पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Ward Servant Was Running The Clinic, Pretending To Do Ultrasound With A Heart Beat Instrument, And Used To Tell A Boy Or Girl In The Womb

पैसों के लालच में पाप:वार्ड सर्वेंट चला रहा था क्लीनिक, हार्ट बीट दर्शाने वाले यंत्र से अल्ट्रासाउंड का नाटक कर मर्जी से बताते थे गर्भ में लड़का या लड़की

अम्बाला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अम्बाला | विभाग की टीम आरोपियों के साथ।
  • स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डिकोय के जरिये सिंघावाला में अग्रवाल अस्पताल के दो कर्मियों को पकड़ा
  • टीम का दावा-गर्भ में लड़की बता अबॉर्शन की गारंटी भी लेते थे आरोपी

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सिंघावाला के विष्णु विहार की कोठी में भ्रूण लिंग जांच के नाम पर पैसे ऐंठने के मामले का भंडाफोड़ किया है। पुलिस की मदद से हुई रेड में सुरेंद्र व सोहनलाल को गिरफ्तार किया है। दोनों प्रेमनगर के अग्रवाल अस्पताल में वार्ड सर्वेंट व पैरा मेडिकल स्टाफ के तौर पर काम करते हैं। सुरेंद्र खुद को डॉक्टर बताता था और सिंघावाला में आर्य नाम से क्लीनिक खोल रखा है। सोहन लाल दलाल के तौर पर काम करता था।

डिप्टी सीएमओ डॉ. बलविंद्र कौर ने बताया कि सूचना मिलने के बाद पिछले कुछ दिनों से यहां नजर रखी जा रही थी। गिरोह का भंडाफोड़ करने के लिए छह माह की गर्भवती का सहयोग लिया गया है। किसी तरह से दलाल सोहन उर्फ सोनू से संपर्क किया गया। उसने 25 हजार रुपए में भ्रूण लिंग जांच का सौदा किया। यह भी भरोसा दिलाया कि गर्भ में लड़की हुई तो अबॉर्शन करवा देगा। शुक्रवार को सोनू ने डिकोय महिला को मानव चौक के पास बुलाया था। जहां उसे 25 हजार रुपए लिए।

जिसके बाद कोठी में ले गए। यहां भ्रूण जांच करने का नाटक करने के लिए जैली लगाई। फिर मल्टी पैरा मॉनीटर व पल्स मीटर को अल्ट्रासाउंड की तरह पेश किया गया था। कुछ देर बाद महिला को बताया गया कि गर्भ में बेटा है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ऐसा अंदेशा है कि ज्यादातर मामलों में गर्भ में लड़की बताकर अबॉर्शन के नाम पर और पैसे ऐंठ लेते होंगे।

पशु पालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर प्रेम सिंह को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाकर हुई रेड में सुरेंद्र ने खुद को इंद्री (करनाल) के गांव शाहपुर का बताया। सोहन ने खुद को दुर्गानगर का रहने वाला बताया। जबकि वह मुलाना के जफरपुर का है और उसके पिता वहां क्लीनिक चलाते हैं। अग्रवाल अस्पताल के संचालक डाॅ. मनोज अग्रवाल ने कहा कि उन्हें कभी अहसास ही नहीं हुआ कि ये लोग ऐसा काम करते हाेंगे।

आईसीयू में काम आता है मल्टी पैरा मॉनीटर

डॉ. हितार्थ मार्कंडेय व डॉ. विजय वर्मा ने बताया कि आरोपियों से मल्टी पैरा मॉनिटर व पल्स मीटर और जैली मिले हैं। मल्टी पैरा मॉनीटर का उपयोग आमतौर पर आईसीयू में हाेता है। इससे पेशेंट की हार्ट बीट व ऑक्सीजन लेवल पता चलती रहती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें