पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूक्रेन गए छात्र का शव अम्बाला पहुंचा:3 महीने पहले गया था युक्रेन, परिवार ने एसए जैन कॉलेज रोड श्मशान घाट में किया अंतिम संस्कार

अम्बाला सिटी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मन चौहान का फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मन चौहान का फाइल फोटो

16 फरवरी को अम्बाला से यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए गए 18 वर्षीय मन चौहान का शव रविवार सुबह करीब 10 बजे अम्बाला पहुंचा। न्यू शालीमार बाग के रहने वाले परिवार ने एसए जैन कॉलेज रोड स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया।

मन चौहान युक्रेन में 15 मई से लापता था। उस रात वह डिनर करने के बाद घूमने के लिए निकला था। मन के मामा विनोद सिरोय ने बताया कि 21 मई को उसके भांजे का शव यूक्रेन में संदिग्ध हालात में एक तालाब से बरामद हुआ। पोस्टमार्टम में मौत की वजह फेफड़ों में पानी भरना बताई गई।

हालांकि, उन्हें अभी इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं है। विनोद ने बताया कि उनका भांजा होनहार छात्र था। जिसका दो बार बीडीएस में एडमिशन हुआ लेकिन उसने एमबीबीएस करने की ठानी हुई थी। इसलिए उसने यूक्रेन में एमबीबीएस में एडमिशन लिया था। मन 16 फरवरी को ही अम्बाला से युक्रेन गया था।

वह खुद भांजे को फ्लाइट में चढ़ाकर आए थे, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि इतनी जल्दी उनके साथ ऐसी अनहोनी हो जाएगी। मन के पिता जयपाल चौहान भी अम्बाला में ही एईटीओ के पद पर हैं। जिनके 2 बेटों में से मन छोटा था। 15 मई को मन के लापता होने के बाद से ही परिवार उसकी कुशलक्षेम को लेकर चिंता में था। इसी बीच यूक्रेन पुलिस को छात्र मन का शव तालाब से बरामद हुआ।

खबरें और भी हैं...