1998 बैच की 90 पेटी शराब बरामद:चाेर रास्ते से शराब बेची जाने लगी ताे पुलिस काे लगी भनक

अम्बाला11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैंट के कुलदीप नगर के बंद पड़े गाेदाम में मिली शराब। - Dainik Bhaskar
कैंट के कुलदीप नगर के बंद पड़े गाेदाम में मिली शराब।

जीटी रोड पर कुलदीप नगर में नानकपुरा कॉलोनी के एक बंद गोदाम से 23 साल पुरानी शराब की 90 पेटियां बरामद हुईं। शराब की बोतलों पर ग्वालियर डिस्टलरी मध्य प्रदेश का लेबल लगा हुआ था। एसपी के आदेश पर गोदाम में एंटी नारकोटिक सेल (एएनसी) ने एक्साइज विभाग के साथ कार्रवाई की, जिसमें एक्साइज विभाग अम्बाला के 3 ईटीओ भी शामिल थे। एएनसी इंस्पेक्टर हामिद ने बताया कि गोदाम का मालिक अभी सामने नहीं आया है। गोदाम के केयरटेकर ने कहा कि यह शराब ठेकेदार की है। अभी पूरी तरह स्थिति स्पष्ट नहीं है कि शराब का मालिक कौन है, इसलिए इस मामले में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके बाद बयान दर्ज होंगे, तब स्थिति स्पष्ट होगी। मौके से एएनसी को प्योर गोल्ड व्हिस्की, बॉक्सर व्हिस्की, सिल्वर जेट एक्सपोर्ट क्वालिटी, 24 कार्ड व्हिस्की, लेडी-डी ब्रांड की शराब बरामद हुई है।

पुलिस का कहना है कि इस गोदाम के आसपास काफी लेबर रहती है, इसलिए चोर रास्ते से जैसे ही शराब बेची जाने लगी तो इसकी भनक पुलिस को लगी। चूंकि, शराब 23 साल पुरानी थी, इसलिए पुलिस और एक्साइज टीम के साथ कार्रवाई की। शुक्रवार रात तक एएनसी की टीम शराब की बोतलें गिनने में जुटी थी। उधर, शराब का एक ठेकेदार भी मौके पर पहुंचा। जिसने टीम को बताया कि 1998-99 में इस शराब को एक्साइज विभाग के हवाले किया गया था, लेकिन विभाग ने न तो खुद इसे नष्ट किया है और न ही हमें नष्ट करने के आदेश दिए थे। इसलिए यह शराब गोदाम में पड़ी रह गई।

शराब इतनी पुरानी कि ब्रांड बंद हो चुके, अब रिकॉर्ड चेक करने में जुटा एक्साइज विभाग
एक्साइज विभाग की टीम ने बताया कि ठेकेदार जिस टाइम की बात कर रहा है उसके मुताबिक रिकॉर्ड चेक किया जा रहा है। रिकॉर्ड से स्पष्ट होगा कि शराब को विभाग के हवाले किया गया था या नहीं। इसके अलावा यहां शराब का पहले कोई एल-वन गोदाम था, इसका भी रिकॉर्ड चेक करेंगे। जो ब्रांड मिले हैं वो अब बंद हो गए हैं। यह शराब पीने के बाद लोगों की सेहत को नुकसान हो सकता था।

खबरें और भी हैं...