सुनवाई 17 को:गुमथलागढ़ू में हुए झगड़े के आरोप में पूर्व मंत्री के बेटे गगनजोत संधू को कोर्ट ने भेजा जेल

पिहोवा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोर्ट में पेशी के दौरान पुलिस हिरासत में गुमथलागढ़ू के पूर्व सरपंच गगनजोत सिंह संधू के। - Dainik Bhaskar
कोर्ट में पेशी के दौरान पुलिस हिरासत में गुमथलागढ़ू के पूर्व सरपंच गगनजोत सिंह संधू के।
  • जसतेज का आरोप-गांव की पार्टीबाजी के चलते भाई को फंसाया जा रहा

इनेलो नेता गांव गुमथलागढ़ू के पूर्व सरपंच एवं पूर्व कृषिमंत्री स्व. जसविंदर संधू के पुत्र गगनजोत संधू को को गिरफ्तार करके शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 17 जनवरी तय करके उसे जेल भेज दिया। गांव में हुए एक झगड़े के मुकदमे में गगनजोत को गिरफ्तार किया जाएगा। संधू को कोर्ट में पेश करने की भनक लगते ही उनके समर्थक कोर्ट परिसर में पहुंच गए। जिसे देखते हुए पुलिस ने फोर्स तैनात कर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए।

बताया जा रहा है कि 16 व 17 नवंबर के आसपास गांव गुमथलागढ़ू के अवतार सिंह ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके परिवार के साथ गगनजोत का झगड़ा हुआ था। जिसमें उन्होंने गगनजोत संधू पर गोली चलाने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था। इसी झगड़े के मामले में रंजिश रखते हुए गगनजोत संधू ने उनके परिवार की एक बहू पर सैर करते समय गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया था।

उस समय गगनजोत पर पुलिस ने 307 के दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए थे। एक मुकदमे में उस पर झगड़ा करके फायरिंग करने का आरोप था और दूसरा मुकदमा महिला पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास था। दोनों मामलों में पुलिस ने धारा 307 के तहत एफआईआर दर्ज की थी। जिसमें से फायरिंग के आरोप वाले मामले में उसे हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई थी और दूसरे मामले में अभी सुनवाई होनी थी, लेकिन इसी बीच पुलिस विभाग द्वारा गठित एसआईटी ने गगनजोत को गिरफ्तार कर लिया।

पार्टी बाजी के चलते फंसाया जा रहा : कोर्ट में पेशी के दौरान मौके पर पहुंचे गगनजोत के भाई जसतेज संधू ने कहा कि गांव की पार्टी बाजी के उनके भाई को फंसाया जा रहा है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही उनके परिवार द्वारा मामले की निष्पक्ष जांच की मांग सरकार व प्रशासन से की जा रही है। मामले को लेकर वकील करण चावला ने कहा कि जिस गाड़ी की घटना में गगनजोत को आरोपी बनाया है। एफआईआर में उसे कोई अन्य व्यक्ति चलाते हुए दिखाया गया है।

17 तक भेजा जेल में : डीएसपी गुरमेल सिंह का कहना है कि शिकायत मिलने के बाद लोकल पुलिस ने मामला दर्ज किया था। जिसके बाद उच्च अधिकारियों के आदेश पर एसआईटी गठित की गई थी। गगनजोत की गिरफ्तारी एसआईटी ने की है। फिलहाल उसे 17 तारीख तक अगली सुनवाई होने तक जेल भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...