विदेशी करेंसी से ठगी के मामले:क्रिप्टो करंसी के नाम पर क्षेत्र में बढ़ रहे ठगी के मामले, अब पाई के व्यक्ति से ठगी

पूंडरी20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खासकर जल्दी पैसा कमाने के चक्कर में युवा हो रहे है इसका शिकार

क्षेत्र में क्रिप्टो करंसी के नाम पर ठगी मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। युवाओं और मध्यम वर्गीय लोगों को कुछ शातिर लोग जल्दी मालामाल और पैसे कमाने का लालच देकर उनके साथ आईडी हैक करके ठगी कर रहे है। जिसकी बाकायदा शिकायत पूंडरी पुलिस थाने को भी दी गई है।

शिकायतकर्ता हरदीप ढुल निवासी पाई ने पूंडरी पुलिस थाने में दी शिकायत में आरोप लगाया कि उसने कुछ दिन पहले डेकीकोवाइन नामक क्रिप्टो करंसी में इबाटर के माध्यम से 48 हजार रुपए निवेश किए थे। जिसमें पाई निवासी दिलबाग धोखे से 15 हजार रुपए ले गया, जब उसने इसका विरोध किया तो उसने कंपनी के लोगों से मिलकर उसकी आईडी हैक कर ली। जिस बारे उसने पुख्ता सबूत पुलिस को भी दिए है। { क्रिप्टो करंसी है क्या, कैसे होती है इसमें ठगी | क्रिप्टो कंरसी एक डिजिटल कंरसी है। कुछ कंपनियां इसमें काम कर रही है, लेकिन उस कंपनी से जूड़े हुए लोग लोगों से पैसे निवेश करवाते है और उन्हें डालर में निवेश करवाकर बाकायदा उनकी आईडी बनाकर प्रतिदिन कंरसी में होने वाले उतार चढ़ाव को उनकी आईडी से दिखाते है और लगातार बढ़ती करंसी के झांसे में आकर खासकर युवा इसमें निवेश करते है।

कुछ समय के बाद जो लोग कंपनी का आदमी बताकर जो निवेश करवाते है, उनके पास ही निवेशक की आईडी व पासवर्ड होता है और मौका देखते ही उनकी आईडी को हैक कर देते है। जिसके बाद निवेशक की आईडी खुलती नहीं और उसका पूरा पैसा गायब हो जाता है।

^शिकायत आई हुई है इसकी जांच की जा रही है। यदि मामला साइबर सैल के लायक होगा तो उसे वहां पर भेजा जाएगा। लोगों को भी समय-समय पर साइबर क्राइम के बारे में अवगत कराया जाता है।
शिवकुमार सैनी, थाना प्रभारी पूंडरी।

खबरें और भी हैं...