समर्थन मांगे जाने की मुहिम:किसानों ने प्रदर्शन कर उठाई तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग

रादौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रादौर| कृषि कानूनों के विरोध में बुबका चौक पर वाहन चालकों से समर्थन मांगते किसान। - Dainik Bhaskar
रादौर| कृषि कानूनों के विरोध में बुबका चौक पर वाहन चालकों से समर्थन मांगते किसान।

भारतीय किसान यूनियन की ओर से कृषि कानूनों के विरोध में जनता से समर्थन मांगे जाने की मुहिम के तहत शनिवार को लगातार तीसरे दिन किसानों ने मंडी चौक रादौर पर सरकार विरोधी प्रदर्शन किया गया।

भाकियू जिला प्रधान संजू गुंदियाना के नेतृत्व में किसानों ने सरकार के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए कृषि कानूनों को वापिस लिए जाने की मांग की। किसानों ने मंडी चौक पर सड़क किनारे खड़े होकर वाहन चालकों से किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए हॉर्न बजाने की अपील की।

संजू गुंदियाना ने कहा कि भाजपा सरकार ने काले कृषि कानून बनाकर किसानों की पीठ में छुरा घोंपने का काम किया है। सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानून पूरी तरह से पूंजीपतियों के हितों में हैं। इन कानूनों से किसानों के साथ साथ आम जनता पर भी महंगाई की मार पड़ेगी।

पूंजीपति मनचाहे दामों पर खाद्य पदार्थ बेचकर जनता का शोषण करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा किसान विरोधी सरकार है। देश के करोड़ों किसान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। माैके पर महिला जिलाध्यक्ष रूपेंद्र कौर, उप प्रधान सुखबीर कौर, रीटा चहल, गोपी, टीका सिंह, संदीप, राजेश, बलिंद्र राव, जोगिंद्र, राहुल, संदीप, काका, सुनील, सुंदर, ईश्वर, अंकित, निर्मल, रणधीर, रोशन भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...