पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापता बच्चा बरामद:परिजनों ने कबूतर किसी और को दिए तो किशोर घर से भागा, पुलिस ने दस घंटे में खोजा

रादौर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रातभर बच्चे की तलाश में लगी रही पुलिस, मोबाइल लोकेशन से किया ट्रेस

गांव सढुरा से बुधवार रात लगभग 10 बजे लापता हुए 13 वर्षीय बच्चे को रादौर पुलिस ने 10 घंटे बाद वीरवार की सुबह 8 बजे गांव खेड़की ब्राह्मणा से खोज निकाला। रादौर पुलिस रातभर लापता बच्चे की तलाश में लगी रही। बच्चे के पास मौजूद मोबाइल फोन की लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने उसे खोज निकाला। पुलिस ने मामले को लेकर लापता बच्चे के पिता की शिकायत पर अज्ञात के विरुद्ध धारा 365 के तहत अपहरण का मामला दर्ज किया था।

वीरवार को पुलिस ने बच्चे को इलाका मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया। जिसके बाद पुलिस ने बच्चे को उसके परिजनों के हवाले कर दिया। बुधवार रात लगभग 10 बजे गांव सढुरा से एक 13 वर्षीय बच्चा लापता हो गया था। जिसके बाद मामले की सूचना रादौर पुलिस को दी गई। थाना रादौर प्रभारी सुखविंद्र शर्मा पुलिस की टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच की।

पुलिस ने बच्चे के पास मौजूद मोबाइल की लोकेशन से उसे खोजने की कोशिश की। लेकिन किशोर ने मोबाइल बंद कर दिया था। रातभर पुलिस उसकी तलाश करती रही। सुबह 8 बजे लापता बच्चे ने अपना मोबाइल फोन ऑन किया तो पुलिस को उसके गांव खेड़की ब्राह्मणा में होने की लोकेशन मिली। जिसके बाद बच्चे की गांव खेड़की ब्राह्मणा में तलाश की गई तो बच्चा गांव से बरामद हुआ।

थाना रादौर प्रभारी सुखविंद्र शर्मा ने बताया कि गांव सढुरा में एक 13 वर्षीय बच्चे को कबूतर पालने का शौक है। वह कुछ दिनों के लिए रिश्तेदारी में गया तो परिवार के लोगों ने उसके कबूतर किसी को दे दिए और कबूतरों का खुड्डा भी तोड़ दिया। जब बच्चा रिश्तेदारी से वापस अपने घर आया तो उसने देखा कि उसे उसके कबूतर नहीं मिले। जिस पर बच्चा परिजनों से नाराज होकर घर छोड़कर चला गया था। जिसके बाद परिजनों व पुलिस ने उसकी तलाश की।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें