पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पानी की निकासी में समस्या:अवैध कब्जों के चलते नकटी नदी का प्रवाह क्षेत्र हुआ संकरा, कार्रवाई की मांग

साढौरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
साढौरा| नकटी नदी के प्रवाह क्षेत्र में अवैध कब्जे कर बनाए गए मकान। - Dainik Bhaskar
साढौरा| नकटी नदी के प्रवाह क्षेत्र में अवैध कब्जे कर बनाए गए मकान।

नकटी नदी के प्रवाह क्षेत्र में अवैध कब्जे करके मकान बनाने के अलावा पंचायती जमीनों पर खेती व पेड़ लगाए जाने से नदी का प्रवाह क्षेत्र संकरा हो गया है। नतीजतन बरसात के दौरान प्रवाह क्षेत्र से पानी की निकासी पूरी तरह से नहीं हो पाती। जिससे नदी का पानी कस्बे के कई मोहल्लों के अलावा कई गांवों की आबादी व खेतों में घुस जाता है। मनोज कालड़ा, जगदीश गौरी, सुरेंद्र कुमार व संजय मेहंदीरता ने बताया कि बाईपास के साथ नदी के प्रवाह क्षेत्र में निरंतर कब्जे करके मकान बनाए जा रहे हैं।

लेकिन किसी अधिकारी ने इस सरकारी जमीन पर हो रहे कब्जों को रुकवाने या हटाने का प्रयास नहीं किया। जिससे नदी का प्रवाह क्षेत्र संकरा हो गया है। नदी के प्रवाह क्षेत्र में बने इनके घरों में पानी घुसने पर यही लोग मुआवजे की मांग करने लगते हैं। यहां से रुका पानी कस्बे के कई मोहल्लों तक पहुंचकर नुकसान पहुंचाता है।

 नकटी नदी के प्रवाह क्षेत्र के संकरा होने का दूसरा कारण साढौरा नदीपार व टिब्बड़ी गांवों की पंचायती व शामलात जमीनों पर किसानों द्वारा कब्जा किया जाना है। यहां ग्रामीणों ने खेती करने के अलावा पेड़ भी लगा दिए हैं। इस जगह पर बाधित हुआ नदी का पानी आईटीआई के अलावा डीएवी कॉलेज की तरफ रुख करके यहां नुकसान करता है।

यही पानी कनीपला व पांडों की आबादी व खेतों में पहुंच कर नुकसान करता है। जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष अनिल संधू ने बताया कि सैदुपुर के रकबे में नदी का कोई अधिकृत प्रवाह नहीं है। अगर प्रशासन नदी के प्रवाह क्षेत्र को बरकरार रखने के लिए सैदुपुर के किसानों की जमीनों का अधिग्रहण करता है तो ग्रामीण इसके लिए रजामंद है।

एसडीएम जसपाल गिल ने बताया कि हथिनीकुंड में बाढ़ राहत कार्यों पर हुई बैठक के दौरान इस समस्या पर चर्चा हुई है। जल्दी अधिकारी इस जगह का निरीक्षण कर समस्या के समाधान का प्रयास करेंगे।

खबरें और भी हैं...