प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना:150 डिपो संचालकों को नहीं मिला 8 माह का कमीशन, अन्नपूर्णा दिवस पर नहीं बांटेंगे बैग में राशन

यमुनानगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • आरोप-खाद्य आपूर्ति एवं नियंत्रक विभाग के अधिकारी नहीं दे रहे संतोषजनक जवाब

शहरी एरिया के 150 डिपो संचालकों ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गेहूं वितरित किया, लेकिन आठ माह से सरकार ने उन्हें कमीशन नहीं दिया। कॉन्फैड की ओर से ग्रामीण एरिया के डिपो संचालकों को कमीशन जारी कर दिया गया, लेकिन शहरी एरिया के डिपो संचालक इंतजार कर रहे हैं। डिपो संचालकों का कहना है कि अगर 18 अगस्त से पहले कमीशन नहीं मिला तो राशन बैग में भरकर वितरित नहीं करेंगे।

उनका कहना है कि वे डीएफएससी कुशल बूरा से भी कई बार मिल चुके हैं। वहीं, डीएफएससी का कहना है कि इस समस्या का समाधान जल्द कराया जाएगा। डिपो संचालकों ने बताया कि कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री अन्न कल्याण योजना के तहत डिपो से गेहूं बीपीएल एपीएल परिवारों को दिया गया।

सरकार की ओर से कहा गया था कि गेहूं वितरण के बाद कमीशन दिया जाएगा। इसके इंतजार में आठ माह बीत गए। कोरोना की दूसरी लहर में फिर से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत बीपीएल परिवारों को गेहूं डिपो से वितरित कर रहे हैं। सरकार 18 अगस्त को अन्नपूर्णा उत्सव मनाने जा रही है।

इस उत्सव में बैग के अंदर राशन भरकर परिवारों में वितरित किए जाएंगे। योजना शुरू होने से पहले ही इसका विरोध डिपो संचालकों की ओर से किया जाने लगा है। डिपो संचालकों का कहना है कि काम तो सरकारी है, लेकिन परिवार तो उनके साथ भी है। जिस प्रकार सरकार परिवारों को राशन देने का काम कर रही है, उसी तरह उनके कमीशन भी जारी किए जाएं।

हर डिपो संचालक की अलग है कमीशन
डिपो एसोसिएशन के प्रधान गजेंद्र राणा का कहना है कमीशन करोड़ों में बन रही है। हर डिपो की अलग कमीशन होती है। यह उपभोक्ताओं की संख्या अनुसार घटती बढ़ती रहती है। उनकी बात करें तो उनके खुद का कमीशन तीन लाख रुपए के करीब बनता है। डिपो संचालकों की ओर से कितना राशन दिया गया।

इसको ऑनलाइन चेक किया जा सकता है। इसके हिसाब से कमीशन जारी की जाए। अभी तो हालत खराब हो रही है। उनको पता लगा है कि कमीशन ऑडिट के नाम पर रोक लिया गया है। मांग को लेकर कई बार अधिकारी से मिल चुके हैं। अभी तक समस्या का हल नहीं हुआ है। सरकार ने संचालकों की कमीशन अगर 18 से पहले नहीं दी तो इस दिन होने वाले उत्सव में राशन बैग नहीं दिए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...