घरों में गंदे पानी की सप्लाई से फैला डायरिया:पानी के 8 में से 5 सैंपल फेल, 27 नए केस, सरकारी आंकड़े में अब तक 231 आ चुके चपेट में

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बैंक कॉलोनी, मायापुरी, कांसापुर, सुंदर विहार और उससे लगती अन्य कॉलोनियों में गंदा पानी सप्लाई हो रहा था। स्वास्थ्य विभाग ने वहां पर सप्लाई हो रहे पानी की जांच कराई तो आठ में से पांच के सैंपल फेल आए। इससे साफ हो गया कि गंदा पानी सप्लाई हो रहा था। जिसकी वजह से इन एरिया में हर घर में कोई न कोई डायरिया की चपेट में आया है और यह सिलसिला जारी है।

शनिवार को 27 नए पेशेंट मिले। अब तक 231 नए केस आ चुके हैं। हर दिन केस आ रहे हैं। माना जा रहा है कि अभी तक लोगों के घरों में साफ पानी की सप्लाई शुरू नहीं हुई। इसी वजह से अभी भी लोग डायरिया की चपेट में आ रहे हैं। कई की हालत बिगड़ी तो उन्हें प्राइवेट अस्पताल में जाना पड़ा। स्वास्थ्य विभाग की टीमें एरिया में डेरा डाले हुए हैं। जहां भी टीम जा रही वहां डायरिया पीड़ित मिल रहे हैं।

सभी एरिया में नहीं आए टैंकर| एरिया निवासी अवनीश, जगतार सिंह, राजकुमार सैनी ने बताया कि लोग सरकारी ट्यूबवेल से सप्लाई हुए पानी के सेवन से डायरिया की चपेट में आए हैं। क्योंकि यह पानी गंदा था। अब पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से कुछ एरिया पानी के टैंकर भेजे गए। लेकिन ज्यादातर एरिया में ये टैंकर नहीं भेजे गए। जिससे बहुत से लोग टूंटी का पानी पी नहीं पा रहे और टैंकर का पानी उन्हें मिल नहीं रहा। उनका कहना है कि अगर हालात जल्द नहीं सुधरे तो एक्सईएन आॅफिस पर जाकर प्रदर्शन करेंगे।

वहीं, पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के एसडीओ ने बताया कि इस एरिया में हम लगातार काम कर रहे हैं। अब तक 60 से ज्यादा अवैध कनेक्शन काटे है। कुछ में लीकेज थी। वहीं अगर बात करें साफ पानी की सप्लाई की तो अब पानी साफ आ रहा है। क्लोरीन भी मिक्स किया जा रहा है।

वहीं, शनिवार को बैंक काॅलोनी निवासी 59 साल की महिला की मौत हुई। वे कई दिन से बीमार थी। विभाग डायरिया से मौत की पुष्टि नहीं कर रहा।

टीमें कर रहे सर्वे

कार्यवाहक सिविल सर्जन डॉ. दीपिका ने बताया कि शनिवार को 27 नए केस आए हैं। हर दिन केस आ रहे हैं। उनकी टीमें घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...