पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन साल के बच्चे की मौत का मामला:बादलवीर बाेला-अपनी सेफ्टी के लिए तीन साल पहले 20 हजार में लिया था देसी कट्टा

यमुनानगर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • देसी कट्टे से खेलते समय गाेली चलने पर हुई थी साढ़े तीन साल के बच्चे की माैत

देसी कट्टे से चली गोली से साढ़े तीन साल के मनराज की मौत के मामले में पुलिस ने उसके मामा बादलवीर को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके पास यह देसी कट्टा तीन साल से है। उसने गांव धीन निवासी से 20 हजार रुपए में यह कट्टा लिया था। क्योंकि उनका परिवार डेरे में रहता है। डेरे में रात के समय कोई वारदात न कर जाए, इसलिए अपनी सेफ्टी के लिए देसी कट्टा घर पर रखा हुआ था।

वहीं आरोपी ने यह भी बताया कि उसने लाइसेंसी असलहे के लिए लिए अप्लाई किया था, लेकिन उसका लाइसेंस नहीं बन पाया। अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए ही उसने कट्टा रखा हुआ था। जिससे उसने यह कट्टा लिया था, उसकी मौत हो चुकी है।

छप्पर थाना प्रभारी राय सिंह ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि उसने अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए घर पर देसी कट्टा रखा हुआ था। पूछताछ के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया। आरोपी से पुलिस देसी कट्टा बरामद कर चुकी है।

{पिता को बताया था-बेटा छत से गिर गया

जम्मू कॉलोनी की गली नंबर एक निवासी अंकुर ने पुलिस को बयान दिया कि पांच साल पहले उसकी शादी सरस्वती नगर निवासी शीतल से हुई थी। शादी के बाद उनके पास बेटा मनराज हुआ। उसकी उम्र अब साढ़े तीन साल थी। 25 मई को उसकी पत्नी मायके आई थी। 28 मई को दोपहर साढ़े 12 बजे उनके पास फोन आया ।

बताया कि मनराज छत से गिर गया। जिस पर वह अपने ससुराल पहुंचा। इसके बाद अस्पताल गया। उसे पता चला कि मनराज को उसके साले बादलवीर के घर में रखे अवैध हथियार के साथ खेलते समय गोली लगी है। पुलिस ने इस शिकायत पर बादलवीर के खिलाफ 28 मई को केस दर्ज किया था।

खबरें और भी हैं...