पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झूठी निकली नाबालिग को गोली मारने की कहानी:वांटेड गंजा से ली पिस्टल चलाकर चेक करने गए भानू से चेक करते समय अपने ही दोस्त को लग गई थी गोली

यमुनानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

16 साल के नाबालिग को स्टेट हाईवे पर जोडियां के पास आई-20 कार सवारों द्वारा गोली मारने की कहानी झूठी निकली। एसपी कमलदीप गोयल ने बुधवार को इस झूठी कहानी की सच्चाई बताई। 18 साल के भानू प्रताप ने पुलिस के वांटेड सेक्टर-17 निवासी मनीष गंजा से पिस्टल खरीदी थी। सुबह पिस्टल खरीदी थी और शाम को उसे चलाकर श्मशानघाट में चेक करना था।

इस पिस्टल को दिखाने और चलाकर चेक करने के लिए भानू ने अपने नाबालिग दोस्त को जोडियां के पास श्मशानघाट में बुलाया था। वहां पर खतरनाक हथियार से अनजान भानू ने जब इसे चेक करना चाहा तो एक दम से गोली चल गई। गोली नाबालिग के पेट में जा लगी थी। इसके बाद वह घायल होकर वहीं पर गिर गया था।

एसपी कमलदीप गोयल के अनुसार इस मामले में यह भी सामने आ रहा है कि झूठी कहानी बनाने के लिए नाबालिग और उसकी मां को भानू ने धमकाया था। इसी डर के मारे कार सवारों द्वारा गोली मारने के झूठे बयान दिए गए। पुलिस ने वीना नगर कैंप निवासी भानू प्रताप को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है। वहीं इस मामले में उसके साथी मन्नी और अवैध पिस्टल देने वाले मनीष गंजा की तलाश है। इस झूठी कहानी का पर्दाफाश सीआईए वन इंस्पेक्टर मनोज कुमार की टीम ने किया है।

यहां से पुलिस को मामला संदिग्ध लगा और झूठ सामने आता गया

घटना के बाद जब पुलिस शर्मा अस्पताल में घायल बालक के बयान लेने पहुंची तो वहां पर पेट में जहां पर गोली लगी है वहां पर बाइक पर पीछे बैठे युवक को साइड से कार सवार अगर गोली मारे तो लगना मुश्किल है। वहीं पुलिस ने घटना स्थल पर एक-एक दुकानदार से बात की। किसी ने भी वहां पर गोली चलने की बात नहीं की। तीसरा बड़ा सुराग यहां से मिला कि एरिया में लगे सीसीटीवी चेक किए तो कोई आई-20 कार वहां से गई ही नहीं। इन सवालों के पुलिस ने जवाब लेने के लिए जब पीड़ित और भानू से जानकारी जुटाई तो पूरा झूठ सामने आता गया।

गंजा अब युवाओं को बना रहा क्रिमिनल, खुद एक दर्जन वारदात कर चुका

मनीष गंजा शहर में कई क्रिमिनल वारदातें कर चुका है। उस पर मारपीट, हत्या के प्रयास, अवैध हथियार के एक दर्जन केस हैं। कुछ में वह बरी हो चुका है तो कुछ में सजा हुई। वहीं कुछ केस में पुलिस को उसकी तलाश है। अभी तक गंजा लोगों पर हमला करने और अन्य अवैध कार्यों में ही संलिप्त था, लेकिन अब युवाओं को क्रिमिनल बनाने का भी उसका कनेक्शन सामने आया है। क्योंकि न तो भानू का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड है और न ही गोली लगने से घायल नाबालिग का। भानू ने शौक के लिए पिस्टल ली थी। भानू पूंडरी के गुरुकुल का स्टूडेंट है। उसका पिता कंस्ट्रक्शन कॉन्ट्रेक्टर है।

खबरें और भी हैं...