नवीन बोले - पंचायतों का होगा स्वच्छता का सर्वेक्षण:केंद्रीय टीम रखेगी सफाई गतिविधियों पर नजर, जिप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने ली बैठक

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवीन आहूजा ने जिला सचिवालय के सभागार में बैठक ली। उन्होंने बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण (ग्रामीण) 2021 के तहत सभी ग्राम पंचायतों में तैयारी कर दी गई है। सभी खंडों में जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को खंड नोडल अधिकारी लगाया है।  खंड स्तर पर खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी खंड नोडल अधिकारी को सहायता प्रदान करेंगे। जिला देश भर में प्रथम स्थान पर आए, इसलिए क्लस्टर स्तर में 6 से 8 गांव शामिल किए गए हैं।

क्लस्टर स्तर के सहयोग के लिए सहायक अधिकारी एवं कर्मचारियों को लगाया गया है, केंद्रीय टीम लोगों की वोट के माध्यम से समीक्षा की जाएगी, जिसमें दो महीने तकत टीम गांवों में सफाई गतिविधियों पर नजर रखेगी। प्रदेश ही नहीं राष्ट्रीय स्तर पर जिला को सम्मानजनक रैंक हासिल कराने का प्रयास रहेगा। भारत के जल शक्ति मंत्रालय में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की ओर से गांवों का एक राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण शुरू किया जाएगा। प्रदेश में 521 स्वच्छ गांव चुने जाएंगे।

इस काम के लिए मंत्रालय की ओर से एक स्वतंत्र एजेंसी इप्सोस रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड की टीम आएगी, जो भिन्न-भिन्न पैरामीटर पर आधारित, हमारे गांव कितने साफ-सुथरे हैं, इसे देखा जाएगा। हर जिले के 25 गांवों का सर्वेक्षण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त 5 हजार 210 हाउस होल्ड और 2605 सार्वजनिक स्थलों का भी सर्वेक्षण होगा। सर्वेक्षण एक हजार नंबरों का होगा, जिसमें 3 घटक लिए गए हैं।

यह होंगे घटक

उन्होंने बताया कि सर्वेक्षण के तीन घटक तय किए गए हैं, जिनमें सेवा स्तर की प्रगति, प्रत्यक्ष अवलोकन तथा नागरिक प्रतिक्रिया शामिल हैं। सेवा स्तर प्रगति के 350 अंक, प्रत्यक्ष अवलोकन के 300 अंक तथा नागरिक प्रतिक्रिया के भी 350 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसमें खंड प्रताप नगर में एडीसी, साढौरा में मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद, उपमंडल अधिकारी अपने खंड के नोडल अधिकारी होंगे।

खंड छछरौली के नगराधीश खंड सरस्वती नगर के जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी नोडल होंग, क्लस्टर स्तर पर जिले में 66 नोडल क्लस्टर अधिकारी होंगे।

खबरें और भी हैं...