दिवाली का सामान लेने निकले पर घर नहीं पहंचे:यमुनानगर में दिवाली की रात बुलेट से पटाखे बजाने पर विवाद, पथराव और गंडासियां चलीं

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिवाली पर पटाखे कई जगह विवाद का कारण बने। जठलाना थाना एरिया के गांव नागल में दो समुदाय के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि पथराव हुआ। गंडासी और अन्य हथियारों से हमला किया गया। गाड़ियां तोड़ दी गई।  दो समुदायों के बीच हुए विवाद में गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। कई थानों की पुलिस ने पहुंच कर हालात पर काबू पाया। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए यहां पुलिस के साथ-साथ सीआरपीएफ की टीम तैनात की गई।

रात को हुए विवाद को देखते हुए गांव में पुलिस तैनात थी लेकिन इसी बीच दुकान पर जा रहे इकराम पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। वहां पुलिस पहुंची तो हमलावर फरार हो गए थे। गांव के साथ-साथ एरिया में तनाव की स्थिति बनी रही। रात और सुबह हुए हमले में 17 लोगों को चोट लगी है। इसमें इकराम की हालत गंभीर है।

हालांकि बाद में दोनों पक्ष गांव में भाईचारा बनाने के लिए आगे आए। दोनों की पीस कमेटी बनाई गई है। पुलिस ने कोई केस दर्ज नहीं किया था। वहीं देर शाम एसडीएम और डीएसपी गांव में पहुंचे थे। हालात तनावपूर्ण बने हुए थे। गांव के बाहर के लोग भी मामले की जानकारी लेने पहुंचने लगे थे। इसी तरह से गांव दड़वा में भी रात को हुए पटाखा बजाने के विवाद में सुबह एक ही परिवार के तीन लोगों पर गंडासी से हमला किया गया। इसमें तीनों घायल हो गए। सिविल अस्पताल में दिवाली की रात और शुक्रवार को एक दर्जन मारपीट के केस पहुंचे।

ज्यादातर में पटाखे बजाना मारपीट की वजह बना। नागल निवासी नीरज चौहान, अनुरोध, राज सिंह, सतपाल, वीर सिंह, प्रमोद, सुरेंद्र राणा व रणधीर सिंह ने कहा कि दीपावली के त्योहार पर मिठाई बांट रहे थे। आशीष और अमित बुलेट बाइक लेकर मिठाई बांटने के लिए गए थे लेकिन गली में समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने उन्हें जबरन रोक लिया और झगड़ा करने लगे। उन्होंने विरोध किया तो मारपीट शुरू कर दी। इस पर युवकों ने गांव के अन्य लोगों व अपने परिजनों को बताया जिस पर गांव का अतर सिंह और अमृतलाल समुदाय विशेष के लोगों को समझाने के लिए गए।

आरोप है कि उनके गली में पहुंचते ही समुदाय विशेष के लोगों ने उनके ऊपर भी ईंटें फेंकनी शुरू कर दी जिसमें दीपक, अमृतलाल, अंकुश, भूषण, रोकी, आशीष व अमित सहित करीब 10 लोगों को चोंटें लगी हैं। घायलों को अस्पताल में इलाज चल रहा है।नागल के समुदाय विशेष के फिरोज, दिलशाद व कमालदीन का कहना है कि रात के समय गली में कुछ युवक बार-बार बुलेट बाइक लेकर गुजर रहे थे और बुलेट बाइक से पटाखे बजा रहे थे। बुलेट से पटाखे बजाने पर उनके समुदाय के शराफत अली ने उन्हें पटाखे बजाने से मना किया।

आरोप है कि शराफत अली के मना करने पर उक्त युवकों ने उसे पीट दिया। कुछ समय बाद उक्त युवक 15 से 20 लोगों के साथ फिर से आए और हमारे समुदाय के लोगों पर हमला किया। इस दौरान वह दिलशाद के घर के अंदर दाखिल हुए और घर के अंदर भी उसे पीटा। हमले में उनके पक्ष के सलमा, तबस्सुम, नयाजु, फिरोज, आमिर व अकरम को चोंटें लगी है।

खबरें और भी हैं...