केस दर्ज करने की तैयारी में निगम:अंतिम नोटिस पर भी विज्ञापन फीस जमा न कराने वाली वीआई पर निगम ने डाली 62.87 लाख रिकवरी

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विज्ञापन फीस जमा न कराने वाली अन्य एजेंसियों के खिलाफ भी केस दर्ज करने की तैयारी में निगम

बिना परमिशन विज्ञापन करने वाली एजेंसियों से अंतिम नोटिस पर भी विज्ञापन फीस जमा न हाेने पर नगर निगम ने रिकवरी नोटिस भेजने शुरू कर दिए हैं। इनमें वीआई (वोडाफोन-आइडिया) को 62.87 लाख की रिकवरी नोटिस जारी कर दिया। ऐसे ही, विज्ञापन फीस जमा न करवाने वाली अन्य एजेंसियों पर नगर निगम रिकवरी नोटिस व केस दर्ज कराने की तैयारी में है।

नगर निगम कमिश्नर अजय सिंह तोमर व डीएमसी अशोक कुमार ने बताया कि विज्ञापन फीस न जमा कराने पर बीती 27 सितंबर को आइडिया को अंतिम नोटिस जारी किया था। इसके जवाब में एजेंसी ने स्वयं घोषणा कर दी थी कि एजेंसी ने वर्ष 2019 और 2021 में विभिन्न तारीखों में निगम की विभिन्न साइटों पर 2360 स्क्वेयर फुट पर होर्डिंग्स व यूनीपोल लगाए थे।

इसमें जगाधरी टी पाॅइंट, बस स्टैंड एंट्री पर 28 जून 2019 से 18 जुलाई 2019 तक आइडिया, जगाधरी बस स्टैंड चौक और बस स्टैंड के सामने नौ अगस्त 2019 से 22 अगस्त 2019 तक आइडिया, जगाधरी बस स्टैंड चौक पर पांच सितंबर 2019 से 18 सितंबर 2019 तक वोडाफोन और कैंप मार्केट में तीन मार्च 2021 व 17 मार्च 2021 तक वीआई (वोडाफोन-आइडिया) के होर्डिंग्स व यूनीपोल लगाकर अपना प्रचार-प्रसार किया था।

इसकी विज्ञापन ‌फीस अब तक जमा नहीं कराई गई। हरियाणा एडवरटाइजमेंट बाइलॉज के अनुसार जब इसके जुर्माने की गणना की गई तो वीआई एजेंसी पर 62,87,207 रुपए जुर्माना बनता है। नगर निगम ने अब इस जुर्माने की रिकवरी का नोटिस एजेंसी को भेज दिया है।

इस मामले में केस भी किया जा सकता है दर्ज

बाकी सभी एजेंसियों द्वारा कार्यालय में प्रस्तुत किए गए जवाबों का अध्ययन किया जा रहा है। शीघ्र ही मामले में अंतिम कार्रवाई करते हुए हरियाणा नगर निगम एडवरटाइजमेंट बाईलॉज, 2018 व हरियाणा प्रिवेंशन ऑफ डिफेसमेंट ऑफ प्रॉपर्टी एक्ट 1999 (हरियाणा संपत्ति के विरूपण की रोकथाम अधिनियम, 1999) की धारा 3ए के तहत केस दर्ज करने की कार्रवाई भी अमल में लाई जा सकती है। इसके अलावा मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स को भी लिखा जा सकता है।

खबरें और भी हैं...