किसानों ने किया रोष प्रदर्शन:पानी में डूबी फसल, सीएम विंडो पर दिखाया समस्या का समाधान हो गया

यमुनानगर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गंदे पानी से खराब हुई फसल को दिखाते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
गंदे पानी से खराब हुई फसल को दिखाते ग्रामीण।

शेखोमाजरा गांव के पानी की वजह से बर्बाद हो रही किसान की फसल को लेकर किसान ने सीएम विंडो पर शिकायत दी थी। लेकिन कार्रवाई न होने से पीड़ित किसान ने शुक्रवार को परिजनों समेत प्रशासन के खिलाफ रोष प्रकट किया।  पीड़ित किसान का कहना है कि गांव में गंदे पानी की निकासी का इंतजाम नहीं है, वहां का सारा गंदा पानी उसके खेत में जा रहा है जिसकी वजह से जमीन बंजर हो चुकी है और उसका परिवार को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। भीलपुरा निवासी विनोद, ईश्वर, राम कुमार, अनुज, सोनू, सुमित, मोहित, रजनीकांत, शुभम, सतबीर, अंकित व गुरदीप ने बताया कि शेखू माजरा गांव के पास उनकी सवा 3 एकड़ जमीन है जिसमें गांव का सारा गंदा पानी निकासी न होने की वजह से जा रहा है। गांव के गंदे होने की वजह से एक एकड़ जमीन पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है जिसमें 4 फिट तक पानी भर गया है और साथ लगते दो एकड़ मे भी पानी की मार से फसल नहीं होती है। उन्होंने बताया कि उनका परिवार गरीब है।  उनके पास यही जमीन है जिसमें वह खेती-बाड़ी कर अपनी गुजर-बसर करते हैं। खेत में फसल न होने की वजह से घर परिवार चलाने में उनके सामने आर्थिक समस्या खड़ी हो गई है।  किसान विनोद ने बताया कि खेत में गिर रहे गांव के पानी की समस्या को लेकर उसने सीएम विंडो पर भी शिकायत दी थी। उसके बावजूद भी पंचायत सेक्रेटरी व सीडीपीओ मौके पर नहीं आए।  जबकि पोर्टल पर लिखा है कि समस्या का समाधान हो गया है। उन्होंने समाधान दिखाने वाले अधिकारी पर कार्रवाई की मांग की है। वहीं, सीडीपीओ छछरौली जोगेश कुमार का कहना है कि शेखू माजरा गांव में कल पंचायत सचिव को भेजकर मौका कराया जाएगा। समस्या का समाधान किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...