संधाली का मामला:ओवरफ्लो हुए जोहड़ के पानी से किसान की गेहूं व लहसुन की फसल को नुकसान

जठलाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जोहड़ का पानी ओवरफ्लो होकर साथ लगते किसान के खेत में घुस रहा है। किसान का आरोप है कि शिकायत के बाद भी अधिकारियों ने उसकी समस्या हल नहीं की। जोहड़ का पानी फसलों में घुसने से उसकी एक एकड़ में खड़ी लहसुन व एक एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल बर्बाद हो गई है।

 संधाली गांव निवासी किसान सुखविंद्र सिंह ने बताया कि उसने गांव की तीन एकड़ पंचायती जमीन को इस बार करीब एक लाख 18 हजार रुपए में ठेके पर ले रखा है। इस पर उसने गेहूं व लहसुन की बिजाई की है। जमीन के साथ ही गंदे पानी का जोहड़ है, जो गंदगी से अंटा है।

वहीं आरोप है कि गांव में जलापूर्ति विभाग के ट्यूबवेल पर तैनात ऑपरेटर हर समय ट्यूबवेल चलाकर रखते हैं। जिससे गांव में लगे नलों से पानी खुला बहता रहता है और यह पानी जोहड़ में आता है। उसने ऑपरेटर को ट्यूबवेल समय अनुसार चलाने के लिए भी कहा। उच्चाधिकारियों को भी इसकी लिखित शिकायत दी। आरोप है कि उसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई।

 किसान का आरोप है कि अधिकारियों की लापरवाही के कारण उसकी फसलें बर्बाद हो गई हैं। उसे लाखों का नुकसान हुआ है। अगर अधिकारी समय रहते उसकी समस्या का समाधान कर देते, तो उसकी फसल खराब होने से बच जाती। किसान ने प्रशासन से खराब हुई फसलों का मुआवजा देने की गुहार लगाई है।

ट्यूबवेल के हर समय चलते रहने की शिकायत मेरे पास आई थी। मैने मौके का विजिट कर लोगों से पूछताछ की, लेकिन किसान द्वारा लगाए गए आरोप सही नहीं मिले। इसके बाद भी मैंने ट्यूबवेल पर तैनात ऑपरेटरों को सख्त हिदायत दी थी कि वह समय अनुसार ही ट्यूबवेल चलाएं।-रवि नायक, एसडीओ, जलापूर्ति विभाग, रादौर

​​​​​​मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। न ही इस मामले में शिकायत लेकर कोई मुझसे मिला। फिर भी अगर ऐसा है तो मौके का विजिट कर जांच करूंगा। समस्या का समाधान कराया जाएगा।-दिनेश शर्मा, बीडीपीओ

खबरें और भी हैं...