डीसी पार्थ गुप्ता ने ली रोड सेफ्टी की पहली मीटिंग:डीसी बोले- यमुनानगर में इतने सड़क हादसे, ये हमारे लिए कलंक के समान, हमें इस कलंक को धोना होगा

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोड सेफ्टी की मीटिंग लेते डीसी पार्थ गुप्ता। - Dainik Bhaskar
रोड सेफ्टी की मीटिंग लेते डीसी पार्थ गुप्ता।

डीसी पार्थ गुप्ता ने चार्ज संभालने के बाद बुधवार को पहली रोड सेफ्टी की मीटिंग ली। मीटिंग की अटेंडेंस शीट के अनुसार 29 अधिकारियों को मीटिंग में आना था, लेकिन 18 ही पहुंचे। इतना ही नहीं कुछ ऐसे थे, जो डिपार्टमेंट के एचओडी नहीं थे। करीब दो घंटे तक चली मीटिंग में हर बार काम न करने का बहाना बनाने वाले अधिकारियों से डीसी पार्थ ने उन्हीं की जुबान से पूछा कि वे हादसे रोकने के लिए जो काम करने हैं, वे कब तक कर देंगे। किसी अधिकारी ने शाम तक का समय मांगा तो किसी ने सात दिन का तो किसी ने 20 दिन का।

डीसी ने उन्हें समय देते हुए कहा कि अगली मीटिंग तक यह हो जाना चाहिए। अधिकारियों को अगली मीटिंग में बताना होगा कि काम किया या नहीं। करीब दो घंटे चली मीटिंग में निचोड़ यह निकला कि जिस विभाग की रोड है, उसके अधिकारी को ये ही नहीं पता कि उसकी रोड की हालत क्या है। कहां क्या कमी है और हादसे हो रहे। आरटीए सचिव डॉक्टर सुभाष चंद्र ने आरएसए अमन कुमार के माध्यम से जिले की सड़कों की हालत को कैमरे में कैच कर मीटिंग में एक-एक कर रखा।

इस दौरान रादौर से कलानौर तक रोड की ऑडिट रिपोर्ट के बिंदू भी रखे गए। इसमें बताया गया कि किस तरह की खामियां हैं। पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन ने सात दिन में खामियां दूर करने की बात कही। वहीं कहा कि यह रोड फोरलेन होनी है। इसे विभाग की दूसरी विंग को ट्रांसफर कर दिया गया है। ये मुद्दे उठे मीटिंग में| जगाधरी बिलासपुर रोड का उठा। चौड़ाई तो की जा रही, लेकिन सुरक्षा के इंतजाम नहीं। सफेद कट्टे रखे गए हैं, लेकिन उन पर रिफ्लेक्टर तक नहीं है। नगर निगम एरिया के विश्वकर्मा चौक का मामला उठा।

हाउस को बताया गया कि यहां पर स्ट्रीट लाइट काम नहीं कर रही। अतिक्रमण है जिसकी वजह से सुबह से शाम तक जाम रहता है। विश्वकर्मा चौक की लाइट के बारे जवाब देते हुए एमसी के अधिकारी ने कहा कि टेंडर हो गया है। जल्द ही रिपेयर का करा देंगे। तब डीसी ने पूछा कि कब तक, जवाब आया कि 21 अक्टूबर को टेंडर खुलना है। डीसी ने पूछा कि टेंडर कितने का है, अधिकारी ने जवाब दिया कि 3 लाइटों का टेंडर करीब 20 लाख रुपए का है। इसके बाद मामला मधु चौक का उठा।

हाउस को बताया गया कि इस वीआईपी सड़क पर दो जगह गड्ढे हैं। सुरक्षा का कोई ध्यान नहीं है। एमसी के अधिकारी ने कहा कि एक सप्ताह में यह काम पूरा कर लिया जाएगा। मधु चौक पर रेहड़ी और अतिक्रमण का व जगाधरी बस स्टैंड का मामला उठा। बताया गया है कि यहां सुरक्षा मानक नहीं हैं। स्ट्रीट लाइट के पोल पेड़ों में अटके हैं। इस पर एक्सईएन ने 15 दिन का समय मांगा। दामला के पास रोड पर हादसे रोकने के लिए एडवोकेट सुशील आर्य ने ग्रिल लगाने का सुझाव दिया।

चार पॉइंट पर चार साल में 100 लोगों की मौत हो चुकी

जिले में सड़क हादसे कम करने के लिए नया फोरलेन हाईवे बनाया गया, लेकिन यहां भी लगातार हादसे हो रहे हैं। मीटिंग में चार पॉइंट रखे गए। इसमें छप्पर बस स्टैंड के पास 25, दामला के पास 25, करेहड़ा खुर्द एरिया में 23 और कैल के पास 21 लोगों की मौत हादसे में हो चुकी है। डीसी ने इस पर चिंता जताई। डीसी ने कहा कि यमुनानगर सड़क हादसों में काफी बदनाम है। यह एक कलंक की तरह है। हमें इसे खत्म करना होगा।

लोगों को अगर सड़क हादसों से बचाया जाए तो इससे बड़ा पुण्य नहीं हो सकता। डीसी ने एनएचएआई के अधिकारी को तुरंत मौके पर जाकर नए हाईवे पर रोड सेफ्टी के इंतजाम करने को कहा। जिन पॉइंट पर हादसे हो रहे हैं, वहां फिलहाल छोटे-छोटे काम जल्द शुरू किए जाएंगे। डीसी ने कहा कि मीटिंग में जो फैसले हुए हैं, उन पर अधिकारियों काे काम करना होगा।

यमुनानगर पुलिस चालान नहीं कर रही
मीटिंग में सामने आया कि हमारी ट्रैफिक पुलिस नियम तोड़ने वालों के चालान ही नहीं कर रही। ओवर स्पीड, वाहन चलाते समय मोबाइल यूज और बिना हेलमेट के दो पहिया चलाने के चालान बेहद कम हैं। इस पर एसपी कमलदीप गोयल ने तुरंत आदेश दिए कि ट्रैफिक पुलिस एक माह में कम से कम 500 चालान ओवर स्पीड के करेगी और 500 हेलमेट न पहनने के।

मीटिंग में एक टूटे रोड का मुद्दा आया तो एसपी ने कहा कि इस वजह से अगर किसी की सड़क हादसे में मौत हो जाती है तो पुलिस को लॉ एंड ऑर्डर संभालना मुश्किल हो जाता है। इसलिए इसे जल्द से जल्द दुरुस्त करें। जगाधरी एसडीएम सुशील कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन है कि ट्रैफिक नियम तोड़ने पर ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड का प्रावधान है। जिला पुलिस की ओर से लाइसेंस सस्पेंड के लिए चालान नहीं भेजे जा रहे। जबकि चंडीगढ़ पुलिस की ओर से हमारे पास इस तरह की सिफारिश आ रही है।

खबरें और भी हैं...