पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

30 जून तक बनवानी होगी आईडी:फैमिली आईडी को स्कॉलरशिप से जोड़ने की तैयारी में विभाग, जिले में 226 स्टूडेंट्स की आईडी ही नहीं

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कॉलेजों की ओर से किया जाएगा जागरूक

राजकीय कॉलेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों की स्कॉलरशिप भी भविष्य में फैमिली आईडी से जोड़ने की तैयारी है। इसलिए कॉलेजों में पढ़ रहे ऐसे विद्यार्थी जिनके अभिभावकों ने अब तक परिवार पहचान पत्र नहीं बनवाए हैं। उनको कॉलेजों की ओर से जागरूक किया जाएगा। इसके लिए टीम बनाई जाएगी। जिले में 226 स्टूडेंट्स की आईडी अभी तक नहीं बनी है। संबंधित कॉलेजों की ओर से विद्यार्थियों की टीम द्वारा आर्थिक सर्वे भी कराया जाएगा। ताकि फैमिली आईडी में इनकम लेकर डिटेल सही भरी जा सके। जिले के सरकारी कॉलेज में पढ़ने वाले 226 स्टूडेंट्स ऐसे हैं जिनकी फैमिली आईडी नहीं बनी है।

विद्यार्थियों को यह पहचान पत्र बनवाकर 30 जून तक कॉलेज को हायर एजुकेशन के दिए लिंक पर अपडेट करना होगा। इस कार्य में संबंधित कॉलेजों की ओर से इन विद्यार्थियों के अभिभावकों को जागरूक करेंगे। यह फैमिली कितनी महत्वपूर्ण है। इसके बारे में बताया जाएगा। इसके लिए सदस्यों की टीम बनाई जाएगी।इसमें विद्यार्थी, सोशल वर्कर, नंबरदार, पटवारी, शिक्षक को शामिल किया जा सकता है। यह टीम आर्थिक सर्वे करने के साथ ही फैमिली आईडी के लिए भी जागरुक करेंगे।

टीम की ओर से उनकी इनकम का भी पता किया जाएगा। उनको इस कार्य के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी, जिसमें प्रोफार्मा भरने के लिए बताया जाएगा। साथ ही कई तरह के तकनीकी पहलू भी बताए जाएंगे। इस के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। टीम की ओर से फैमिली आईडी बनवाई या नहीं इसको लेकर अपडेट लिया जाएगा।

इनकम सर्टिफिकेट के लिए नहीं लगाने होंगे चक्कर
प्रिंसिपल बलजीत कौर का कहना है कि फैमिली आईडी इसलिए जरूरी है कि अब भविष्य में स्कॉलरशिप को भी इसी से जोड़ने की तैयारी है। इसके लिए विद्यार्थियों को इनकम सर्टिफिकेट के लिए कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। परिवार पहचान पत्र से ही सारी डिटेल मिल जाएगी। छात्रवृत्ति भी विद्यार्थियों के खाते में सीधे पहुंच जाएगी।

खबरें और भी हैं...