परेशानी / 262 कर्मी रहने पर दोनों शहरों समेत 42 गांवों में बिगड़ी सफाई व्यवस्था

X

  • 764 में 489 कच्चे-पक्के व ग्रामीण सफाईकर्मी हड़ताल व 13 छुट्टी पर

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

यमुनानगर. सफाई कर्मचारियों के लगातार दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहने से यमुनानगर व जगाधरी, दोनों शहरों से लेकर निगम के 42 गांवों में सफाई व्यवस्था बिगड़ गई। मंगलवार को निगम में लगे कच्चे-पक्के व ग्रामीण 764 कर्मियों में 489 हड़ताल पर रहे। वहीं, 13 छुट्टी पर चले गए। महज 262 कर्मचारियों के सहारे अफसर सफाई व्यवस्था संभालते दिखे, हालांकि नगर निगम ने पहले दिन हड़ताल के बाद व्यवस्था बनाने के लिए मुख्य मार्गों की सफाई में रात को स्वीपिंग मशीनें दौड़ाईं।

वहीं, मंगलवार को डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन से लेकर उठान में लगी गाड़ियाें के फेरे बढ़ाए। बावजूद इसके कहीं झाडू तो कईं डस्टबिन से कचरा नहीं उठ पाया और शहर से लेकर गांवों तक में गंदगी की समस्या रही। बता दें कि नगर निगम यमुनानगर-जगाधरी के अंतर्गत 241 स्थाई व 471 अस्थाई व 52 ग्रामीण सफाई कर्मी हैं। इनमें 489 हड़ताल पर रहें, जिनमें 167 स्थाई व 280 अस्थाई व 42 ग्रामीण कर्मी हड़ताल पर रहे। इसके अलावा 2 स्थाई, 10 अस्थाई व 1 ग्रामीण कर्मी की अनुपस्थिति दर्ज की गई। यानि कुल 13 छुट्टी पर रहे। बचे 262 कच्चे, पक्के व ग्रामीण कर्मियों पर सफाई व्यवस्था आ गई, इनमें 72 स्थाई व 181 अस्थाई कर्मी शामिल थे। 

उल्टा झाडू कर रेलवे रोड पर निकाला रोष मार्च: हड़ताली सफाई कर्मियों ने दूसरे दिन उल्टा झाडू कर रेलवे रोड पर रोष मार्च निकाला। नगर निगम यमुनानगर कार्यालय पर धरनारत सफाई सहित अग्निशमन कर्मियों ने रोष मार्च में सरकार विरोधी नारेबाजी की।

इसकी अगुवाई संघ के शाखा प्रधान राजकुमार धारीवाल और संचालन शाखा सहसचिव बलदीप तुम्बी ने किया। मौके पर महासचिव मांगे राम तिगरा और अग्निशमन सेवा के जिला प्रधान गुलशन भारद्वाज, एसकेएस के जिला प्रधान महिपाल सोढे, वरिष्ठ उपप्रधान प्रवेश परोचा, जिला सचिव राजपाल सांगवान, स्वास्थ्य ठेका कर्मचारी यूनियन के जिला प्रधान सुमित ऋषि व जिला सचिव नरेश कुमार, वरिष्ठ उपप्रधान राजकुमार, उपप्रधान जनकराज, रमन, महिला नेता कमलेश, सुनीता, अग्निशमन सेवा से जिला सचिव तरसेमचंद, रिंकू कुमार, तेजिंद्र सिंह, राजवंश सिंह, स्वास्थ्य सेवा से भजन लाल शोभित ने संबोधित किया। सरकार को चेतावनी दी कि 5 जुलाई तक मांगों पर बातचीत के लिए नहीं बुलाया जाता तो छह जुलाई से तीन दिन की हड़ताल होगी। 

अनिल नैन, चीफ सेनेट्री इंस्पेक्टर, नगर निगम ने कहा कि पहले दिन हड़ताल के बाद व्यवस्था संभालने के लिए मुख्य मार्गों की स्वीपिंग मशीनों से सफाई की गई। डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन से लेकर उठान में लगी गाडिय़ों के फेरे बढ़ाए। सफाई व्यवस्था में कहीं दिक्कत नहीं आने दी गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना