लोग बेहाल / 3.68 करोड़ के सिस्टम स्ट्रेंथनिंग प्रोजेक्ट के बाद भी नहीं बदले हालात लोड बढ़ने से रोजाना औसत 50 जगह फॉल्ट से लग रहे बिजली कट

Even after the system strengthening project of 3.68 crore, the situation did not change due to increasing load, the average daily power cut from 50 places
X
Even after the system strengthening project of 3.68 crore, the situation did not change due to increasing load, the average daily power cut from 50 places

  • वाटर सप्लाई के टाइम के दौरान बिजली निगम के मरम्मत कार्यों से पेयजल आपूर्ति प्रभावित

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

यमुनानगर. गर्मी में बिजली-पानी की बढ़ी मांग के आगे विभागों के दावों की पोल खुल रही है। बिजली व पेयजल सप्लाई, दोनों की व्यवस्था शहर में लड़खड़ाती दिख रही है। इसकी एक वजह विभागों के बीच तालमेल की कमी है। हालांकि बिजली निगम ने अबकी गर्मी के सीजन में फॉल्ट की समस्या न हो, इसके लिए सिस्टम स्ट्रेंथनिंग प्रोजेक्ट पर 3.68 करोड़ खर्चे। बावजूद इसके बीते वर्षों जैसे हालात हैं। लॉकडाउन में इंडस्ट्री व अन्य कामधंधों को रियायत के बाद से बिजली के बढ़े लोड से रोज औसत 50 जगह फॉल्ट से अघोषित कट लग रहे हैं। बिना बिजली के गर्मी से बेहाल शहरवासियों को पेजयल किल्लत का भी सामना करना पड़ रहा है। चूंकि कई जगह बिजली निगम के मरम्मत कार्यों के लिए वाटर सप्लाई के टाइम के बीच परमिट हो रहे हैं, जिससे पेयजल सप्लाई प्रभावित हो रही है।


शुक्रवार को 66 केवी सब स्टेशन पेपर मिल से चलने वाले 11 केवी छोटी लाइन, 11 केवी फव्वारा चौक, 11 केवी सरोजनी कॉलोनी, 11 केवी रादौर रोड व 66 केवी सब स्टेशन चांदपुर से चलने वाले 11 केवी चांदपुर सहित कई इंडस्ट्रीज की सुबह 7 से 9 बजे तक मरम्मत कार्यों के लिए बिजली सप्लाई बंद रखी गई जबकि सुबह 6 से 10 बजे तक वाटर सप्लाई का टाइम था लेकिन घरों में पानी की सप्लाई नहीं आई। उनकी मांग है कि परमिट पर बिजली कट वाटर सप्लाई के टाइम न लगें।


एक माह में बिजली खपत 32.31 से बढ़कर 65.17 लाख यूनिट रिकॉर्ड|

लॉकडाउन में इंडस्ट्री व अन्य कामधंधों को मिली रियायत के बाद गर्मी बढऩे से बिजली खपत एक माह पहले की तुलना में डबल हो गई है। बीते माह 20 अप्रैल को सर्कल के अंतर्गत यमुनानगर, जगाधरी व नारायणगढ़ डिविजन पर खपत 32.21 लाख यूनिट थी, जो 27 मई को बढ़कर 65.17 रिकॉर्ड की गई। अधिकतम तापमान के 40 डिग्री होते ही लोग गर्मी से राहत के लिए पंखे, कूलर, एसी, फ्रिज के इस्तेमाल से बिजली खपत एक माह में डबल हो गई। इस बढ़े लोड से ट्रांसफार्मर व फीडर जवाब देने लगे हैं और रोज औसत 50 जगह फॉल्ट से घंटों अघोषित कट लग रहे हैं। ज्यादातर शिकायतें पॉवर हाउस के बक्से व फ्यूज उड़ने, केबल पंचर की आ रही हैं।

सुबह-शाम वाटर सप्लाई 1-1 घंटे बढ़ाई
पब्लिक हेल्थ एसडीओ श्यामलाल ने बताया कि ये सही है कि वाटर सप्लाई के वक्त पॉवर कट लग रहे हैं, इसलिए सुबह व शाम के वाटर सप्लाई शेड्यूल को 1-1 घंटा बढ़ाकर 5 से 10 बजे का समय तय किया है। इस बीच बिजली न रहने पर सप्लाई नहीं आती तो बिजली आने पर उतने ही समय सप्लाई चालू रखने के निर्देश दे दिए हैं।

39 ट्यूबवेल प्रोजेक्ट पूरा करने में निगम भी सुस्त
जिन एरिया में लो प्रेशर पानी की दिक्कत है, उनका पब्लिक हेल्थ ने सर्वे किया था। इन 39 जगह पर नगर निगम के अमरुत के तहत ट्यूबवेल का प्रोजेक्ट हैं, जो ढाई साल बाद भी अधूरा है। 39 ट्यूबवेल के बोर हो चुके हैं। 31 में मोटर पंप डल चुके हैं, लेकिन आठ में डलने बाकी हैं। 30 के लिए बिजली कनेक्शन मिल चुके हैं, लेकिन 9 के अभी भी बिजली कनेक्शन नहीं है। नगर निगम एक्सईएन आनंद स्वरूप ने कहा कि आठ ट्यूबवेल चालू कर दिए हैं जबकि सात तीन दिन में चालू कर देंगे।

गर्मी में बिजली का लोड बढ़ा है। मौसम के कारण भी कई जगह फॉल्ट की समस्या आ रही है। एसडीओ स्तर पर टीमों का गठन कर दिया गया है, ताकि समय पर बिजली सप्लाई चालू की जाए। गर्मी को देखते हुए सुबह मरम्मत कार्य किए जा रहे हैं।
योगराज, एसई, बिजली निगम।

लोड बांटने के लिए सिस्टम स्ट्रेंथनिंग प्रोजेक्ट पूरा किया
बिजली निगम ने सर्वे कर ओवरलोड से जवाब दे रहे फीडर व ट्रांसफार्मर पहचाने। उनके पैरलल नए 11 फीडर व 180 ट्रांसफार्मर का इंतजाम किया जिससे एरिया में 2-2 फीडर व ट्रांसफार्मर होने से लोड बंट जाए और आखिरी छोर पर लो वोल्टेज की दिक्कत न हो। साथ ही एक फीडर व ट्रांसफार्मर में खराबी पर पूरे एरिया की बिजली बंद करने के बजाए दूसरे फीडर व ट्रांसफार्मर से चालू रहे। बिजली निगम बार-बार फॉल्ट व अन्य खराबी से कट की वजह बन रहीं 140 किलोमीटर लाइन चेंज की। इसमें 9 के बजाए 11 मीटर के पोल और 50 की जगह 80 एमएम की एल्यूमीनियम तार डाली। पेड़ों पर निकल रही साढ़े सात किलोमीटर लाइन 185 एमएम की। बावजूद इसके बिजली कट लग रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना