पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि कानूनों का विरोध:रेलवे ट्रैक पर 4 घंटे किसानों का कब्जा, रेल सेवा रही प्रभावित

यमुनानगर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर| रेल रोकने के लिए ट्रैक पर बैठे किसान। - Dainik Bhaskar
यमुनानगर| रेल रोकने के लिए ट्रैक पर बैठे किसान।
  • जितनी देर किसान ट्रैक पर बैठे, उस समय कोई ट्रेन यहां से जानी ही नहीं थी

तीन कृषि कानूनाें के विरोध में किसानों ने वीरवार को दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेलवे ट्रैक पर धरना दिया। किसानों का ऐलान था कि रेल रोककर सरकार को जगाएंगे, लेकिन अम्बाला-सहारनपुर रूट पर दोपहर 12 से चार बजे तक कोई ट्रेन ही नहीं थी, जिससे कोई ट्रेन प्रभावित नहीं हुई। किसानाें ने कृषि कानूनाें के विरोध में चल रहे आंदोलन के दौरान दूसरी बार रेलवे ट्रैक पर कब्जा किया। इससे पहले सुढल-सुढैल के पास चार घंटे रेलवे ट्रैक पर बैठे थे। उस समय भी कोई ट्रेन प्रभावित नहीं हुई थी।

किसानों का कहना था कि हमें इससे मतलब नहीं कि जिस समय धरना दिया गया उस समय ट्रेन रूट पर थी या नहीं। चार घंटे तक रेलवे ट्रैक पर किसानों काे कब्जा करना था, वह किया गया। किसान यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन पर बैठे थे। प्रदर्शन का नेतृत्व किसान संयुक्त मोर्चा के सुभाष गुर्जर, संजू गुंदियाना, मनदीप रोड छप्पर, हरपाल सुढल समेत कई नेताओं ने किया। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि किसानों के चार घंटे तक रेलवे ट्रैक पर बैठने से कोई ट्रेन इस रूट पर प्रभावित नहीं हुई।

तीन माह से चल रहा विरोध: सरकार न मानी तो बड़ा आंदोलन करेंगे : सुभाष

किसान नेता सुभाष गुर्जर, संजू गुंदियाना ने कहा कि तीन कृषि कानून किसान को बर्बाद कर देंगे। क्योंकि सरकार ने इन बिलों को व्यापारियों के हित के लिए बनाया है। इससे किसान को न तो फसल का सही रेट मिलेगा और न ही उसकी फसल खरीदने वाला कोई होगा। तीन माह से किसान आंदोलन चल रहा है।

200 से ज्यादा किसान आंदाेलन के दाैरान जान गंवा चुके हैं। इसके बाद भी सरकार किसानों की बात मानने को तैयार नहीं है। किसान नेशनल हाईवे से लेकर रेलवे ट्रैक जाम कर चुके हैं। अब आगे इससे भी बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

सुरक्षा के लिए जिला पुलिस भी लगानी पड़ी

रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थ, क्योंकि डर था कि किसान यहां पर हंगामा कर सकते हैं, लेकिन पूरा रेल रोको अभियान शांतिपूर्ण रहा। हालांकि सुरक्षा के लिए यहां पर रेलवे पुलिस के साथ-साथ जीआरपी और जिला पुलिस की टीमें लगी थी। दो डीएसपी यहां तैनात थे। वहीं, 50 से ज्यादा पुलिसकर्मी लगाए थे। वहीं प्रशासन काे अाशंका यह भी थी कि वीरवार को यमुनानगर में सीएम मनोहरलाल पहुंचे थे, यहां किसान विरोध न कर दें। लेकिन किसानों ने किसी तरह का विरोध भी नहीं किया।

विपक्ष से कांग्रेसी ही पहुंचे समर्थन देने

किसानों के रेल रोको अभियान में विपक्ष से कांग्रेसी ही पहुंचे। इस दौरान नरेश कुमार, पूर्व पार्षद गुरदयालपुरी, युवा कांग्रेस जगाधरी ब्लॉक प्रधान हार्दिक सखूजा समेत अन्य कांग्रेसी वर्कर पहुंचे थे। इनेलो, बसपा या फिर अन्य विपक्षी पार्टी के नेता धरनास्थल पर नहीं पहुंचे। रेल रोको कार्यक्रम के दौरान किसानों के प्रदर्शन में राजनीतिक रंग भी दिखा। इस दौरान पंचायती चुनाव में किसे जिताना है किसे हराना है, इसे लेकर भी बयानबाजी को हुई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें