अजीम हत्याकांड:मुख्य आरोपी की महिला मित्र भी गिरफ्तार, सीआईए वन ने आरोपी को कोर्ट में पेशकर जेल भेजा

यमुनानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चांदपुर निवासी अजीम हत्याकांड की साजिश में भंभौल की महिला आशा भी शामिल थी। सीआईए वन ने उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया। आशा और हत्याकांड के मुख्य आराेपी शराफत की पुरानी दोस्ती थी। सामने आया है कि महिला ने शराफत के कहने पर ही अजीम को अपने जाल में फंसाया था। इसके बाद सात जनवरी को अजीम को महिला ने फोन कर पंचायत भवन चौक पर मिलने के लिए कहा था।

वहां जब अजीम पहुंचा तो महिला तो नहीं मिली, लेकिन शराफत, इसरार उर्फ भूरा और आदिल वहां पर थे। तीनों ने अजीम को कार में जबरदस्ती बैठाया और उसकी हत्या की। इसके बाद उसकी बाइक और शव आवर्धन नहर में फेंक दिया था। बता दें अजीम की हत्या प्रेम प्रसंग के चलते हुई थी। शराफत की भांजी और अजीम की दोस्ती थी। यह दोस्ती शराफत को पसंद नहीं थी, इसलिए अजीम की हत्या की गई।

किडनैप कर हत्या की थी

जांच अधिकारी अनिल राणा ने बताया कि हत्याकांड में आशा भी शामिल थी। उसने फोन कर अजीम को पंचायत भवन के पास बुलाया था। सामने आया है कि शराफत के प्यार के चलते आशा ने शादी तक नहीं की थी। आशा ने शराफत के कहने पर ही अजीम से संपर्क किया। तब उसने कहा था कि वह पंचायत भवन के पास एक अस्पताल में नर्स लगी हुई है । उसे कुछ दवाइयां चाहिए। क्योंकि अजीम एक मेडिकल एजेंसी पर काम करता था।

दवाइयां लेने के बहाने उसने उसे पंचायत भवन के पास बुलाया था। वहां से अजीम को किडनैप किया गया। वहीं सामने आया है कि 16 जनवरी को अजीम के भाई के पास एक महिला का फोन आया। महिला ने फोन कर कहा था कि अजीम उसके पास है और दोनों शादी करने वाले हैं। बताया जाता है कि यह फोन आशा ने ही किया था। सीआईए वन मामले में चांदपुर निवासी निवासी शराफत, इसरार उर्फ भूरा और आदिल को पहले गिरफ्तार कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...