रेल सेवा शुरू / जनशताब्दी में यूपी के लिए चढ़े चार यात्री और पंजाब से आए 22 उतरे, एंट्री-एग्जिट पर सभी को स्क्रीनिंग के बाद जाने दिया

In the Jan Shatabdi, four pilgrims to UP and 22 from Punjab landed, let everyone go after screening at entry-exit
X
In the Jan Shatabdi, four pilgrims to UP and 22 from Punjab landed, let everyone go after screening at entry-exit

  • ट्रेन रुकने से पहले उतरने व चढ़ने वालों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाए गोलदारे

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

यमुनानगर. भास्कर न्यूज | यमुनानगर
22 मार्च को लॉकडाउन के बाद से आम यात्रियों के लिए बंद रेल सेवा सोमवार को सौ जोड़ी ट्रेनों से शुरू हो गई। हालांकि लॉकडाउन में प्रवासियों के लिए विशेष ट्रेनें चलीं, लेकिन 70 दिन बाद आम यात्रियों के लिए रिजर्वेशन पर ट्रेन से सफर शुरू हो गया। 100 में दो जोड़ी ट्रेनों का ठहराव यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन पर है, जिसमें जनशताब्दी (अमृतसर-हरिद्वार) ट्रेन सोमवार दोपहर 11:54 बजे एक मिनट रुकी। इसमें यूपी-उत्तराखंड के लिए 4 यात्री रवाना हुए जबकि पंजाब से आए 22 लोग उतरे जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की स्क्रीनिंग बाद ही जाने दिया। यात्रियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग के लिए स्टेशन परिसर में पहले ही गोलदारे बनाए गए वहीं, तय नियमों के पालन के लिए मौके पर जीआरपी, आरपीएफ व सिविल पुलिस तैनात रहीं। वापसी में अमृतसर के लिए ट्रेन शाम 430 बजे स्टेशन पर रुकी, तब भी कड़ी निगरानी में यात्रियों का आना-जाना रहा। बता दें कि ट्रेन आने से तीन घंटे पहले ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंच गई। यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन से रिजर्वेशन कराने वाले चार यात्री डेढ़ घंटे पहुंच गए, उन्हें भी स्क्रीनिंग बाद एंट्री मिली। विभाग ने संदिग्ध केस मिलने वेटिंग रूम रिजर्व रखा था वहीं, एंबुलेंस की भी व्यवस्था थी।
 थर्मल स्क्रीनिंग कर पूछा अभी या पहले करोना के लक्षण तो नहीं? स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर-2 पर जैसे ही जनशताब्दी रुकी। मौके पर तैनात जीआरपी, आरपीएफ व सिविल पुलिस अलर्ट हो गई। उतरे यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के बनाए गोलदारों में खड़ा कर दिया गया। ट्रेन के जाते ही सभी को सोशल डिस्टेंसिंग में पैदल पुल से प्लेटफार्म नंबर-1 पर लाया गया जहां स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी की थर्मल स्क्रीनिंग की। सभी का टेंपरेचर सामान्य मिला। इस पर एक-एक यात्री से पूछा गया कि अभी या कुछ समय पहले कोरोना के लक्षण तो नहीं हैं। सभी ने लक्षण न होने की बात कही जिस पर उन्हें स्टेशन से एग्जिट मिली।
बाहर सोशल डिस्टेंसिंग और ट्रेन में टूटा नियम : स्टेशन परिसर से आने-जाने वाले यात्री सोशल डिस्टेंसिंग में दिखे, लेकिन ट्रेन के अंदर यह नियम टूटता दिखा। ट्रेन की बोगियों में यात्री सीट पर एक-दूसरे से सटे नजर आए। ट्रेन से उतरे यात्रियों ने बताया कि सभी ने मास्क पहन सफर किया। साथ ही सभी के मोबाइल में आरोग्य सेतू एप इंस्टॉल था। रेलवे पुलिस भी साथ रही, जिससे किसी तरह का खाैफ महसूस नहीं हुआ और सफर सुरक्षित रहा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना