पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दरिंदगी की सजा:57 साल की महिला से रेप, हत्या और लूट करने वालों को उम्रकैद, कोर्ट ने कहा- यह निर्मम हत्या है, नरमी नहीं रखी जा सकती

यमुनानगर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
महिला से रेप कर हत्या करने और घर में लूटपाट करने वाले गुलाब नगर निवासी विनोद उर्फ मिठू और ऋषिपाल को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा और 30-30 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। - Dainik Bhaskar
महिला से रेप कर हत्या करने और घर में लूटपाट करने वाले गुलाब नगर निवासी विनोद उर्फ मिठू और ऋषिपाल को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा और 30-30 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।
  • शराब के नशे में महिला से दरिंदगी कर हत्या करने वालों को उम्रकैद, एक ने रेप किया था, दूसरे ने पकड़े रखा था
  • फॉरेंसिंक लैब की रिपोर्ट और पुलिस का सामान बरामद करना बना सजा का आधार

गुलाब नगर निवासी 57 साल की महिला से रेप कर हत्या करने और घर में लूटपाट करने वाले गुलाब नगर निवासी विनोद उर्फ मिठू और ऋषिपाल को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा और 30-30 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। पुलिस जांच में सामने आया था कि ऋषिपाल ने महिला से रेप किया था। पुलिस ने महिला के प्राइेवट पार्ट से मिले स्पर्म से ऋषिपाल का डीएनए मैच कराने के लिए सैंपल भेजा था। जोकि मैच हुआ।

वहीं विनोद से मिले महिला के घर से लूटे सामान से भी यह साफ हुआ कि पूरी वारदात ऋषिपाल और विनोद ने की। दोनों ही पहलू पूरे केस में सजा का आधार बने। वहीं दोषी अपने पक्ष में एक भी सबूत पेश नहीं कर पाए कि वारदात में वे नहीं थे। जिससे उन पर दोष साबित हुआ। केस में करीब तीन साल तक सुनवाई चली।

पीड़ित पक्ष के वकील रितेश गोयल ने कहा कि कोर्ट ने सजा सुनाते हुए कहा कि एक महिला की इस तरह से निर्मम हत्या करने वालों को छोड़ा नहीं जा सकता। उनके प्रति कोई नर्मी नहीं रखी जा सकती। फैसला एडीजे नेहा नोहरिया की कोर्ट ने सुनाया है। कोर्ट ने दोनों को 16 जुलाई को दोषी करार दिया था।

भाई ने सुबह 10 बजे बहन के मकान का गेट आधा खुला देखा तो शक हुआ था, अंदर गया तो मृत पड़ी थी

गुलाब नगर की रामनगर कॉलोनी निवासी व्यक्ति ने जगाधरी पुलिस को शिकायत दी थी कि उसकी बहन पड़ोस में ही रहती है। बहन की दो बेटियां हैं और उनकी शादी हो चुकी है। 57 साल की बहन यहां पर अकेली रहती थी। क्योंकि 25-30 साल पहले उसका अपने पति से विवाद हो गया था। इसे दोनों अलग-अलग रह रहे थे। बहन बीडीपीओ ऑफिस में लगी हुई थी। सुबह 4 बजे उठकर सैर करने जाती थी। वहीं सुबह घर का काम खत्म कर अपने ऑफिस में चली जाती थी।

सुबह करीब 10 बजे वह अपनी बहन के घर के आगे से निकल रहा था तो बहन के घर का गेट आधा खुला था। उसे शक हुआ कि कुछ गलत हुआ है। उसने आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं आया। वह अंदर गया तो देखा कि बहन मृत पड़ी थी। फ्रिज खुला था। बहन का एक पैर बांधा हुआ था। किसी ने उसकी बहन के घर में लूटपाट की और उसके साथ गलत काम कर हत्या की है। इस मामले में जगाधरी पुलिस ने 5 फरवरी 2018 को धारा-376 और 460 में केस दर्ज किया था।

नशे में थे दोषी, रेप किया, मुंह में कपड़ा ठुसकर हत्या की थी: पुलिस ने गुलाब नगर निवासी विनोद उर्फ मिठू और ऋषिपाल को गिरफ्तार किया था। तब आरोपियों ने बताया था कि मृतका 57 वर्षीय महिला से आरोपी 54 वर्षीय ऋषिपाल ने रेप किया था। इसके बाद 34 वर्षीय विनोद ने मुंह पर कपड़ा रखकर और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी। दोनों ने ढाई माह तक इस वारदात को अंजाम देने के लिए दिनरात रैकी की।

दोनों आरोपियों का क्रिमिनल बैकग्राउंड रहा है। विनोद को हत्या और लूट के मामले में 20 साल सजा हो चुकी थी। वह हाईकोर्ट से जमानत पर था। वहीं ऋषिपाल चार लूट के मामलों में नामजद रहा है। वह भी जमानत पर था। मौत के बाद आरोपियों ने महिला के पैरों से पंजेब और कानों से सोने की बालियां निकाल ली। इसके बाद उन्होंने पूरे घर को खंगाला था। अलमारी को रॉड से खोलने का प्रयास किया, लेकिन वह पूरी तरह नहीं खुली थी। अलमारी में हाथ डालकर उसमें रखा बैग उठा लिया। उसमें 1800 रुपए थे।

पड़ोसी होते हुए पुलिस को शक नहीं हुआ, जांच होने पर केस ट्रेस हुआ था

वारदात सिटी जगाधरी थाना एरिया में हुई थी। धारा-460 में केस दर्ज किया था। इस धारा में तब जगाधरी थाने का यह दूसरा केस था। शुरुआत में पुलिस को लगा कोई करीबी है। जांच टीम बदली गई। केस सीआईए के पास गया। वहां भी काफी दिन लग गए। लेकिन सबूत नहीं मिला।

पुलिस ने एरिया के अन्य क्रिमिनल केसों में नामजद लोगों से पूछताछ शुरू की। पुलिस ने विनोद उर्फ मिठू और ऋषिपाल से पूछताछ की तो सामने आया कि दोनों ने वारदात की थी। 67 दिन बाद यह केस ट्रेस हुआ था। वहीं तब तत्कालीन सीआईए इंचार्ज सुनील कुमार की जांच कोर्ट में स्टीक रही। दोनों को उम्रकैद की सजा हुई।

खबरें और भी हैं...