पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सूर्या हत्याकांड:जेल में झगड़े के दौरान लगी मामूली चोट के बाद मनीष सात दिन से अस्पताल में भर्ती

यमुनानगर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर| सूर्या पंडित का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
यमुनानगर| सूर्या पंडित का फाइल फोटो।
  • सूर्या के भाई का आरोप: मनीष ने अस्पताल में गैंग के सदस्यों को बुला भाई की हत्या की साजिश रची

न्यू हमीदा कॉलोनी निवासी सूर्या पंडित की हत्या की प्लानिंग सिविल अस्पताल के कैदी वार्ड में रची गई। आरोप है कि वहां पर भर्ती मनीष उर्फ गंजा ने अपने गैंग के सदस्यों को बुलाकर सूर्या की हत्या के लिए कहा। पुलिस ने केस में साजिश रचने पर मनीष पर भी केस दर्ज किया है।

वहीं शक है कि मनीष सिविल अस्पताल के कैदी वार्ड में बीमारी की बजाए सेटिंग से भर्ती है। उसे जेल में लाडवा निवासी विपिन महंत के साथ हुए झगड़े में सिर में चम्मच लगा था। जिससे उसे मामूली चोट लगी। इसके बाद उसने डॉक्टर को कहा कि उसे उल्टी और चक्कर आ रहे है। जिसके बाद डॉक्टर ने उसका सीटी स्कैन और अन्य टेस्ट के लिए जेल से सिविल अस्पताल शिफ्ट के लिए रेफर कर दिया। लेकिन यहां वह एक सप्ताह से भर्ती है। जबकि उसे एेसी गंभीर चोट नहीं है कि उसे इतने दिनों तक भर्ती कर रखा जा सके।

पुलिस ने केस में साजिश रचने की धारा जोड़ी - वहीं, पीजीआई में रविवार को भी नहीं हो सका सूर्या के शव का पोस्टमार्टम, पुलिस ने हत्याकांड में 9 को किया है नामजद

उधर, अगर पुलिस इस एंगल पर भी जांच करे कि मनीष एक सप्ताह से कैदी वार्ड में क्यों भर्ती था और उससे बिना राेके टोके उसके गैंग के लोगों को क्यों मिलने दिया तो डॉक्टर से लेकर वहां तैनात पुलिस कर्मियों की परेशानी बढ़ सकती है। एसपी जेल संजीव पातड़ का भी कहना है कि मनीष को गंभीर चोट नहीं थी। वहीं, सिविल अस्पताल के पीएमओ डॉ. सुनील कुमार का कहना है कि कैदी को क्या दिक्कत थी, इसे चेक कराएंगे। जहां तक सेटिंग से भर्ती होने की बात है, ऐसा नहीं होता। डॉक्टर बीमारी के हिसाब से ही कैदी को एडमिट करने की सलाह देता है।

तीन नाबालिगों की हत्याकांड में भूमिका नहीं मिली
न्यूू हमीदा कॉलोनी निवासी शिवाली शर्मा ने पुलिस को शिकायत दी है कि वे सूर्या क्लब की ओर से गुरु गोबिंद सिंह इंस्टीट्यूट के गेट के पास गणेश उत्सव को लेकर कार्यक्रम करते हैं। इस बार भी कार्यक्रम की प्लानिंग थी। उसका भाई सूर्या पंडित और वह रात को सामान उतरवाने वहां गए थे। तभी वहां तीर्थ नगर निवासी हर्ष, आजाद नगर निवासी अक्षित गर्ग, शैंकी, शिवा, आशू पैगवाला, मन्नी मेहरा, नितिन मेहरा, परवेज, शाहरुख और अन्य युवकों ने हमला कर दिया। आरोपियों ने रॉड पर कांटे की तारें लपेटी हुई थी। उन्हीं से हमला किया।

वहीं एक कट्टे में कांच की बोतलें लेकर आए थे। उसे सूर्य के सिर और मुंह पर मारी। उसे वे अस्पताल लेकर गए। जहां से पीजीआई रेफर कर दिया। वहां सूर्या की मौत हो गई। सूर्य ने मनीष गंजा और नितिन मेहरा पर पहले केस दर्ज कराया हुआ है। उसमें आरोपी अपनी बेगुनाही के लिए शपत्र पत्र मांगने का दबाव डाल रहे थे। मनीष गंजा जेल से इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती है। आरोपियों ने वहां उससे मिलकर उसके भाई पर हमले की प्लानिंग रची थी। पुलिस ने इस केस में धारा-302 और 120बी में केस दर्ज किया है। सूर्य के शव का सोमवार को पीजीआई चंडीगढ़ में पोस्टमार्टम होगा। पुलिस ने तीन नाबालिग को हिरासत में लिया था, लेकिन जांच में उनकी भूमिका सामने नहीं आई।

गैंगवार से जोड़कर देखी जा रही सूर्या पंडित की हत्या
सूर्या पर नवंबर 2020 में भी हमला हुआ था। मन्नी मेहरा, नितिन मेहरा, मोहित मेहरा, सोनू मेहरा, तांत्रिक, मनमोहन, उमित गुप्ता, प्रवेज, शोएब व अन्य ने उसके घर पर हमला किया था। जब वह अपनी मां के साथ पुलिस को शिकायत करने गया तो आरोपी थाने में उन्हें धमकाने पहुंच गए थे। इस मामले में हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज हुआ था। वहीं, 21 फरवरी 2020 में सूर्या पंडित पर रामपुरा कॉलोनी में निहाल, कालू, मनीष गंजा, नितिन, मनमोहन ठाकुर, चिल्ली, साहिल, तांत्रिक और 10-15 अन्य लोगों ने हमला किया था। इसमें सूर्या के दोस्त को भी चोट लगी थी। हालांकि सूर्य पर भी हमला करने केस केस दर्ज हैं। सूर्या की हत्या गैंगवार से जोड़कर भी देखी जा रही है।

केस सीआईए वन को किया ट्रांसफर
इस हत्याकांड के मामले को सीआईए वन को ट्रांसफर कर दिया गया। सीआईए वन इंचार्ज राकेश मटोरिया ने बताया कि जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

मनीष उर्फ गंजा पर पहले 11 केस दर्ज
सेक्टर-17 निवासी मनीष गंजा पर 11 केस पहले दर्ज हैं। लंबे समय तक वह फरार रहा। उस पर पुलिस ने इनाम भी रखा था। इसके बाद उसे एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया था। सिविल अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती होने से पहले जेल में विपिन महंत के साथ उसका झगड़ा हुआ था। विपिन महंत की सचिन सुढैल के साथ रंजिश है। उसके घर पर फायरिंग करने के मामले में महंत जेल में हैं। वहीं मनीष गंंजा और सचिन एक ही गुट के बताए जाते हैं।

खबरें और भी हैं...