पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लेटलतीफी:शहर में नगर निगम के राहत दिलाने वाले प्रोजेक्ट पड़े अधूरे

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर | प्रह्लादपुरी कॉलोनी में ट़्यूबवेल ठीक करने पहुंचे कर्मी। - Dainik Bhaskar
यमुनानगर | प्रह्लादपुरी कॉलोनी में ट़्यूबवेल ठीक करने पहुंचे कर्मी।
  • बारिश में ही निचले समेत ठप निकासी वाले इलाकों में पानी निकासी न होने से रही परेशानी

मानसून की बरसात में जलभराव से राहत दिलाने वाले नगर निगम के अधूरे प्रोजेक्ट प्री-माॅनसून की बारिश में ही आफत बन रहे हैं। शहर में पानी निकासी के लिए अमरुत के तहत रिहायशी कॉलोनियों में सीवर लाइन डालने से मुख्य मार्गों पर बड़े नालों व स्टॉर्म पाइप लाइन प्रोजेक्ट अब तक अधूरे हैं। इनके लिए उखाड़ी सड़कों पर माॅनसून से पहले हो रही बारिश में हालात बिगड़ चुके हैं, क्योंकि मिट्टी-मलबा बरसाती पानी में बह रहे हैं।

यही लेटलतीफी आगे मानूसन में भी शहरवासियों के लिए बड़ी आफत ला सकती है। वार्ड पार्षदों ने आरोप लगाया कि निकासी के लिए टेंडर अलॉट कर अफसर काम समय रहते निपटाना भूल गए, जिससे शहर को जलभराव झेलना पड़ेगा।

2019 से पेंडिंग कन्हैया चौक से डिचड्रेन स्टॉर्म लाइन: शहर में जलभराव खत्म करने के लिए बड़े नाले के पानी को पुराने एनएच-73 व एसकेएस से जम्मू कॉलोनी में डिचड्रेन लाइन में पहुंचाने की प्लानिंग 2019 में बनी। यहां स्टॉर्म वॉटर पाइप लाइन का काम अमरुत के तहत 16 नवंबर 2019 से शुरू हुआ। 11.84 करोड़ में यहां 6 फुट चौड़ी लाइन डालने का काम था, जो 29 फरवरी 2020 तक खत्म करना था। समय अवधि बढ़ाकर 31 दिसंबर-2020 हुई, किंतु इस डेडलाइन में भी काम पूरा नहीं हुआ। अब भी कन्हैया साहिब चौक से महाराणा प्रताप चौक के बीच वन विभाग के पेड़ व बाइपास के नीचे रेलवे लाइन समेत आगे 800 गज प्राइवेट लैंड पर लाइन नहीं डाली जा सकी है।

यहां नाले व सीवर लाइन का काम प्रोसेस में, मानसून से पहले चालू हाेना मुश्किल: कन्हैया साहिब चौक से मधु चौक, सेक्टर-17 जिमखाना क्लब, महाराजा अग्रसेन (स्टेशन) चौक से रेस्ट हाउस, बूड़िया श्मशान घाट से बूड़िया चौक, रेलवे रोड पर नालों का काम प्रोसेस में हैं। इसके अलावा वार्डों में अमरुत के तहत सीवर लाइने भी अधूरी हैं। इनका माॅनूसन से पहले चालू होना मुमकिन नहीं लग रहा वहीं, इनके लिए खोदी गलियाें-सड़कों पर मानसून से पहले आई बारिश से कीचड़ के बीच आने-जाने की परेशानी बढ़ गई है।

न ले का लेवल गलत, शिकायत पर भी न कार्रवाई न कराया ठीक: वार्ड-4 से पार्षद देवेंद्र व वार्ड-5 से विनय कांबोज ने कहा कि वार्ड में अमरुत में निकासी के काम पूरे नहीं हो पाए। बूड़िया श्मशान घाट से बूड़िया चाैक तक जलभराव रहता है, जिसके लिए नाला डाला गया। लेकिन इसका लेवल ठीक न होने से लाखों खर्च के बाद भी कोई लाभ नहीं होगा। इसकी शिकायत होने पर भी न ठेकेदार पर कार्रवाई हो रही हैं न नाले का लेवल ठीक कराया जा रहा है।

प्रह्लादपुरी कॉलोनी में लगे ट्यूबवेल का बोर फेल: वार्ड 20 की प्रह्लादपुरी कॉलोनी में लगे जनस्वास्थ्य विभाग के ट्यूबवेल का बोर फेल हो गया। विभाग के कर्मियों ने इसको कंडम बताया। विभाग के एक्सईएन, एसडीओ का दौरा होने के बाद इसके नजदीक नया बोर शुरू होगा। इसके के बाद ही यहां पेयजल समस्या का समाधान हो सकेगा। जनस्वास्थ्य विभाग के एक्सईएन सुमित गर्ग ने कहा कि जल्द समस्या का समाधान करा दिया जाएगा।

बरसाती सीजन को लेकर नालों की सफाई से लेकर स्टॉर्म वाटर ड्रेन व सीवर लाइन के काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं। पूरा प्रयास है कि शहर में जलभराव न होने दिया जाए।
धर्मवीर सिंह, कमिश्नर, नगर निगम।

खबरें और भी हैं...