पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके का इंतजार:3 दिन से 18 से 44 एज ग्रुप के लोगों के लिए वैक्सीन नहीं, 50% से ज्यादा कोरोना पेशेंट इसी उम्र के मिल रहे

यमुनानगर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर| महिला को वैक्सीन लगाती स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
यमुनानगर| महिला को वैक्सीन लगाती स्वास्थ्य कर्मी।
  • 18 से 44 साल वर्ग के करीब 4 लाख लोगों को लगनी है कोरोना वैक्सीन

आबादी के बड़े हिस्से 18 से 44 साल की उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन नहीं है। वैक्सीनेशन को लेकर एडवांस में बनने वाले शेड्यूल में तीन दिन से कोई भी साइट 18 से 44 साल के लोगों के वैक्सीन के लिए नहीं बनाई गई। जहां पर 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लग रही है, वहां 18 से 44 साल उम्र के लोग पहुंच रहे हैं। लेकिन उन्हें वापस आना पड़ रहा है। कई जगह तो इन तीन दिनों में हेल्थ वर्करों के साथ कई जगह बहस भी हुई। इन लोगों को वैक्सीन न लगने के पीछे अधिकारियों की मिस मैनेजमेंट भी सामने आ रही है।

 29 दिन से इस उम्र के लोगों को वैक्सीन लग रही है। इन 29 दिन में बहुत से दिन ऐसे रहे, जब इस उम्र के लोगों के लिए पूरे जिले में कहीं पर वैक्सीनेशन नहीं हुआ। अगर सेंटर बनाया गया तो पूरे जिले में एक या फिर इतने कम सेंटर बनाए गए कि ये लोग पहुंच ही न सकें। इस मामले में सिविल सर्जन डॉ. विजय दहिया का कहना है कि वैक्सीन की स्टॉक के हिसाब से शेड्यूल बनाया जाता है। पंचायत भवन में सरकारी कर्मचारियों के लिए सेंटर बनाया गया। वहां पर इस उम्र के कर्मचारियों को वैक्सीन लगी। वहीं पिछड़े एरिया आजाद नगर और हमीदा के लोगों के लिए भी अलग-अलग दिन सेंटर बनाया गया था। फिलहाल हर दिन जारी होने वाले शेड्यूल में इस उम्र के लोगों के लिए सेंटर नहीं बनाए जा रहे। ताकि सेंटरों पर ज्यादा भीड़ लगने का डर है।

परेशानी, रजिस्ट्रेशन के बाद स्लॉट नहीं मिलता

कोरोना संक्रमण की चपेट में हर उम्र के लोग आ रहे हैं। 18 से 44 साल के लोग ज्यादा मिले रहे हैं। लेकिन इन्हें वैक्सीन नहीं लग पा रही है। वहीं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद स्लॉट अलॉट नहीं हो रहा है। क्योंकि वैक्सीन उपलब्ध नहीं होती। इस तरह से 18 से 44 साल के लोगों पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है और उससे बचने के लिए वैक्सीन भी नहीं मिल पा रही है।

35,673 को ही लगी पहली डोज

यमुनानगर में वैक्सीनेशन बेहद धीमी गति से चल रहा है। चार माह में 42469 लोगों को ही दोनों डोज लग पाई है। सबसे कम 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन लग पाई। वीरवार को विभाग की ओर से जारी आंकड़ों में 18 से 44 साल के 35673 लोगों को वैक्सीन लगी। जबकि 45 साल से ज्यादा 193745 लोगों को वैक्सीन लगी है। इस तरह से 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन नहीं लग पा रही है। जिले में इस उम्र के करीब चार लाख लोग हैं।

18-44 एज ग्रुप काे इन दिनों नहीं लगा टीका

  • 30 मई को चार जगह वैक्सीन लगेगी, लेकिन 18-44 उम्र के लोगों को कहीं वैक्सीन नहीं लगेगी।
  • 29 मई को जारी शेड्यूल में 12 जगह वैक्सीनेशन साइट तय की गई। इसमें कहीं पर भी 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीन की सुविधा नहीं दी थी।
  • 28 मई को 27 जगह वैक्सीनेशन का शेड्यूल जारी किया गया। इसमें भी एक भी साइट पर 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीनेशन करने की कोई सुविधा नहीं थी।
  • 27 को 15 जगह वैक्सीनेशन हुआ। लेकिन 18 से 44 साल के लिए पूरे जिले में तीन जगह साइट बनाई गई।
  • 26 को भी 18 से 44 साल के लोगों को कहीं पर वैक्सीन नहीं लगी। 12 जगह 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन साइट बनाई गई थी।
  • 25 को चार जगह वैक्सीन 18 से 44 साल के लोगों को लगी। वहीं, 10 जगह 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगी।
  • 24 को 10 साइट पर 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन लगी। वहीं, 45 उम्र से ज्यादा के लोगों के लिए आठ जगह वैक्सीनेशन की सुविधा की गई थी।
  • 23 मई को तीन साइट पर वैक्सीनेशन हुआ। लेकिन कहीं भी 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीन नहीं थी।
  • 22 मई को 18 से 44 साल के लोगों के लिए पूरे जिले में एक ही जगह वैक्सीनेशन हुआ। जबकि 26 जगह 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई गई।
खबरें और भी हैं...