आरोप:वार्डों के मंजूर कामों के लिए फंड कमी का बहाना कर रहे अफसर कई टेंडर में कर रहे पैसा बर्बाद

यमुनानगर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैल प्लांट की चारदीवारी पर लगे शेड। - Dainik Bhaskar
कैल प्लांट की चारदीवारी पर लगे शेड।
  • कैल कचरा प्लांट की चारदीवारी पर शेड तक लगे फिर भी निर्माण को लगाया 26.69 लाख का टेंडर

कैल स्थित कचरा प्लांट की चारदीवारी पर शेड तक लगे हैं, बावजूद इसके नगर निगम ने चारदीवारी निर्माण के लिए 26.69 लाख का टेंडर लगा दिया है। इस पर अफसरों की कार्यप्रणाली पर पार्षद सवाल खड़े कर रहे हैं। उनका आरोप है कि वार्डों के मंजूर कामों के लिए फंड कमी का बहाना कर रहे अफसर कई टेंडर में पैसा बर्बाद कर रहे हैं। ऐसे फिजूल खर्च के कई काम गिनाते हुए विपक्षी पार्षद अगामी हाउस मीटिंग में विरोध की रणनीति बना चुके हैं।

इन कामों पर पार्षदों का अफसरों से एक सवाल... क्यों कर रहे पैसा बर्बाद? : कैल प्लांट की 26.69 लाख में चारदीवारीः विरोध में तर्क- “कचरा खत्म तो मरम्मत पर इतने खर्चे का नहीं औचित्य” वार्ड-4 से कांग्रेसी पार्षद देवेंद्र सिंह ने कहा कि कैल कचरा प्लांट की चारदीवारी पर 26.69 लाख का टेंडर महज सरकारी धन की बर्बादी है क्योंकि साइट पर पहले से बाउंड्रीवाल तैयार है।

नगर निगम का दावा है कि कैल प्लांट में 6 साल का डंप कचरा वर्ष-2021 में लगभग खत्म हो चुका है, तब खाली प्लांट के लिए चारदीवारी की मरम्मत पर भी इतनी राशि खर्चने का औचित्य नहीं रह जाता। इस पर सदन बैठक में अफसरों से जवाब मांगेंगे, क्योंकि वे वार्ड के जरूरी कामों के लिए फंड कम बताते हैं वहीं दूसरी ओर इस तरह के टेंडर कर पैैसे बर्बाद कर रहे हैं।

इंजीनियरिंग ब्रांच की 15.40 लाख में रेनोवेशनः विरोध में तर्क- नए भवन में होनी शिफ्टिंग तो पुराने पर खर्च क्यों? : वार्ड-7 से पार्षद रामआसरा भारद्वाज ने कहा कि कन्हैया साहिब चौक समीप शिफ्ट हुई इंजीनियरिंग ब्रांच के भवन पर रिनोवेशन के नाम पर 15.40 लाख खर्चे का टेंडर लगा है। इससे पहले भी इस भवन समेत रेलवे रोड पर पुराने भवन पर कई बार मरम्मत व अन्य कार्यों पर लाखों खर्चे जा चुके हैं।

ये सरकारी धन की बर्बादी है, क्योंकि नगर निगम के सभी ब्रांच ऑफिस नए भवन में शिफ्ट करने है, तब पुराने भवनों पर बार-बार खर्च करना गलत है। यही धनराशि से वार्ड के मंजूर काम पूरे हो सकते हैं। जरूरत मुताबिक किए जा रहे टेंडर: नगर निगम कमिश्नर अजय सिंह तोमर ने प्रवक्ता के माध्यम से बताया कि जो कार्य जरूरी हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जा रही है। टेंडर जरूरत मुताबिक किए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...