प्रतिमा स्थापित:सूर्य कुंड मंदिर अमादलपुर में महाचंडी महायज्ञ में एक करोड़ आहुति पूरी

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व व्यवस्थापक ब्रह्मलीन संत अखिलानंद ब्रह्मचारी महाराज की प्रतिमा स्थापित

सूर्य कुंड मंदिर अमादलपुर पर चल रहे महाचंडी महायज्ञ में बुधवार को एक करोड़ आहुति पूर्ण हो गई। आचार्य दिवाकर वशिष्ठ ने बताया एक करोड़ आहुति पूरी हो गई। वीरवार को यज्ञ की पूर्णाहुति होगी। अष्टमी तिथि में मां भगवती स्वरूप 1100 कन्याओं का भोजन व पूजन किया गया। भगवती स्वरूप कन्या आई।

 आश्रम के पूर्व व्यवस्थापक ब्रह्मलीन संत अखिलानंद ब्रह्मचारी महाराज की प्रतिमा विराजमान कराई गई। आचार्य केशव ने स्थापना कराई। धर्म संघ सूर्यकुंड पीठाधीश्वर समर्थ श्री त्रंबकेश्वर चेतन ब्रह्मचारी महाराज, डॉ. गुण प्रकाश चेतन महाराज के सानिध्य में चल रहे महायज्ञ एवं श्रीमद् भागवत कथा का समापन शाम 6 बजे होगा। संतों के मधुर प्रवचन जारी हैं।

यज्ञ में चारों वेदों के ब्राह्मण भी आए हुए हैं। काशी से आए ब्राह्मणों द्वारा जो आरती होती है, उसे देखने के लिए से लोग आते हैं। वह आरती काशी की प्रसिद्ध है। कथा व्यास ऋषभदेव महाराज ने गोवर्धन लीलाओं का वर्णन किया। भगवान की बाल स्वरूप कथाओं का श्रवण कराया। मुख्य यजमान विमल चोपड़ा, अनिल तनेजा, राजीव गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता, दिनेश गर्ग, शक्ति जैलदार, सुरेश यादव, आचार्य त्रिलोक व अमित गोयल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...