सिलेंडर चुराते युवकों का मुंडन:पंचायत ने सुनाया तीनों के सिर के आधे बाल काटने का फरमान, वीडियो बनाकर किया वायरल

यमुनानगर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर के छछरौली के गांव देवधर में पंचायत ने सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए तीन युवकों के सिर से आधे बाल कटवा दिए। - Dainik Bhaskar
यमुनानगर के छछरौली के गांव देवधर में पंचायत ने सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए तीन युवकों के सिर से आधे बाल कटवा दिए।

हरियाणा के यमुनानगर के छछरौली के गांव देवधर में पंचायत ने सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए तीन युवकों को अजीब सजा सुनाई है। पंचायत ने पकड़े गए तीनों युवकों के सिर के आधे बाल काटने का आदेश जारी किया। युवकों के बाल काटने का वीडियो भी वायरल हो रहा है।

गांव देवधर के ग्रामीणों ने बताया कि वह गांव में लगातार चोरी की वारदात से परेशान हो रहे थे। कई बार पुलिस को शिकायत दी लेकिन इस समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ। इसलिए ग्रामीण अपने स्तर पर ऐसी वारदात की निगरानी कर रहे थे। इसी निगरानी के दौरान पंचायत क्षेत्र में तीन युवकों को एक घर से गैस सिलेंडर चोरी करते पकड़ा। पहले तीनों युवकों को पकड़ पीट दिया। फिर तीनों को सजा देने के लिए पंचायत हुई। पंचायत ने सजा के तौर पर उनके सिर के आधे बाल काटने का फरमान सुनाया। तीनों के बाल काटने का वीडियो भी बनाया गया और उसे वायरल कर दिया गया। ग्रामीणों ने बताया कि वीडियो इसलिए वायरल किया गया ताकि युवकों को अपने किए गलत काम का अहसास हो सके।

बाल काटने का विरोध करता चोरी का आरोपी युवक।
बाल काटने का विरोध करता चोरी का आरोपी युवक।

वायरल हो रहा बाल काटने का वीडियो
सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए तीनों युवकों के बाल काटने का वीडियो खूब वायरल हो रहा है। लोगों का कहना है कि लगातार बढ़ रही चोरी की वारदात से उनकी नाक में दम हो रहा था। इसी बीच चोरी करते युवक मौके पर पकड़े गए। इसलिए अपने स्तर पर उन्हें सजा सुनाई और उन्हें सबक सिखाने के लिए वीडियो वायरल किया गया। वहीं पुलिस का इस संबंध में कहना है कि ऐसी कोई शिकायत उनके पास नहीं पहुंची है। न ही ग्रामीणों ने चोरी की कोई शिकायत पुलिस को दी है। न ही बाल काटने के संबंध में कोई शिकायत अभी तक आई है।

कानून सम्मत नहीं है सजा
पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की एडवोकेट आरती अग्रवाल ने बताया कि युवकों को दी गई यह सजा किसी तरह से सही नहीं है। पंचायती स्तर पर युवकों को सजा देने का कानून में प्रावधान नहीं है। पहले तो यह है कि इस बात सबूत क्या कि युवकों ने ही चोरी की। दूसरा, यदि वह चोरी करते पकड़े गए तो पुलिस को इसकी शिकायत दी जानी थी। पुलिस तब कानून के मुताबिक कार्रवाई करती। किसी को भी इस तरह से कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।

सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए युवक के बाल काटते ग्रामीण।
सिलेंडर चोरी के आरोप में पकड़े गए युवक के बाल काटते ग्रामीण।

पुलिस को शिकायत का इंतजार नहीं करना चाहिए
एडवोकेट आरती ने कहा कि पुलिस को इस मामले में शिकायत का इंतजार नहीं करना चाहिए। उन्हें बाल काटने वाले युवकों और पंचायत के खिलाफ मामला दर्ज करना चाहिए, जिससे ऐसी घटनाओं पर रोक लग सके। उन्होंने कहा कि ऐसी मानसिकता के लोग सिंघु बार्डर जैसी घटनाओं को भी अंजाम देते हैं। इसलिए ठोस और सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...