पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपलब्धि:ओलंपिक टोक्यो में भारतीय टेनिस टीम खिलाड़ियों के साथ जाएंगे फिजियोथेरेपिस्ट आनंद

यमुनानगरएक महीने पहलेलेखक: नितिन शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • सानिया मिर्जा के रिकमंड करने पर किया चयन

ओलंपिक टोक्यो में भारतीय टेनिस टीम के साथ चोपड़ा गार्डन निवासी आनंद कुमार दुबे बतौर फिजियोथेरेपिस्ट जाएंगे। आनंद लंबे समय से टीम के साथ अपनी सेवाएं दे रहे हैं। वे भारतीय रेलवे दिल्ली में तैनात हैं। जब भारतीय रेलवे की टीम कही बाहर खेलने जाती है तो उनके साथ भी इनको भेजा जाता है।

टेनिस की प्लेयर सानिया मिर्जा के रिकमंड करने पर इनका चयन भारतीय टीम के साथ किया गया है। 17 जुलाई को इनकी रवानगी होनी है। उससे पहले सभी जरुरी औपचारिकताएं भी पूरी की जानी है। आनंद कुमार दुबे ने बताया कि वह 2005 से टेनिस खिलाड़ियों के जुड़े हैं। इसमें भी दो कैटेगरी होती हैं। जूनियर और सीनियर टीम बनाई जाती है।

उनका जूनियर टीम के साथ भी जाना होता है क्योंकि उनकी रेलवे में भर्ती स्पोर्ट्स फिजियोथेरेपिस्ट पद पर हुई है। इसी पहचान के साथ भारतीय टीम के साथ भी सेवाएं देते हैं। जब रेलवे की टेनिस टीम बाहर खेलने जाती है। उनको भी रेलवे की ओर से ही साथ भेजा जाता है। वैसे तो कई बार भारतीय टीम के साथ जाने का मौका मिला है। यह पहला मौका मिला है जब ओलंपिक गेम्स में जाने का अवसर मिला है। इसके लिए उनका चयन भारतीस टेनिस टीम की खिलाड़ी सोनिया मिर्जा की ओर से उनका नाम प्रस्तावित किया गया।

हर खिलाड़ी रखता है अपना फिजियोथेरेपिस्ट

आनंद कुमार दुबे ने बताया कि टेनिस ही नहीं और दूसरे खेल खेलने वाले खिलाड़ी अपना पर्सनल फिजियोथेरेपिस्ट रखते हैं। यह महंगा पड़ता है। बहुत से खिलाड़ी खर्च से बचने के लिए नहीं भी रखते हैं। वह खुद सानिया के साथ लंबे समय से हैं। उनको बतौर फिजियोथेरेपिस्ट सेवाएं दे रहे हैं। उनकी बदौलत ही भारतीय टीम के साथ टोक्यो जा रहे हैं।

खेलों के दौरान होती है इंजरी| टेनिस खेलने के दौरान खिलाड़ियों काे काफी समय तक खेलना पड़ता है। इससे उनको थकान के साथ कई बार इंजरी यानी चोट लग जाती है। कम समय में दोबारा खेलों के लिए तैयार करने काम फिजियोथेरेपिस्ट का ही है। वहां टोक्यो में उनका यही काम रहेगा।

खबरें और भी हैं...