समस्या:मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर खेत संख्या को लेकर आ रही दिक्कत, पंजीकरण नहीं करा पा रहे किसान

यमुनानगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ठेके पर जमीन लेकर काश्त करने वालों को हो रही ज्यादा परेशानी

सरकार ने किसानों उनकी फसल का खरीद समर्थन मूल्य देने को लेकर मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल शुरू कर रखा है। पंजीकरण के बाद किसान सरकारी केंद्रों पर अपनी फसल को समर्थन मूल्य पर बेच सकते हैं। अभी किसान पोर्टल पर पंजीकरण करा भी रहे हैं। ठेके पर जमीन लेकर काश्त करने वाले किसानों का पंजीकरण नहीं हो पा रहा है।

डीसी गिरीश अरोड़ा ने भी कृषि विभाग के अधिकारियों को गंभीरता दिखाने के लिए कहा है। डीसी को अधिकारियों ने समस्या के समाधान को जल्द दूर करने का आश्वासन दिया। अभी समस्या का समाधान नहीं हाे पाया है। किसान अशोक कुमार, सतीश, निरंजन सिंह, मनोज ने बताया कि अधिकतर किसान ऐसे हैं, जो ठेके पर जमीन लेकर खेती करते हैं।

ये किसान पोर्टल पर पंजीकरण नहीं करा पा रहे हैं। इसके लिए सीएससी, अटल सेवा केंद्रों के चक्कर लगा रहे हैं। किसानों का ये भी कहना है कि प्रशासन को निर्धारित जमीन से अधिक जमीन पर फसल का रजिस्ट्रेशन करने वालों पर भी नजर रखनी चाहिए।

किसानों का कहना है कि परिवार के अन्य सदस्यों की ओर से पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के बाद वे अपनी फसल का पंजीकरण नहीं करा पाते हैं। समाधान के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे। किसानों ने ऑनलाइन आपत्ति भी दर्ज कराई है। उसका जल्द समाधान किया जाए, ताकि किसान अपने फसल की रजिस्ट्रेशन करा सकें।

इन नंबरों पर ले सकते हैं हेल्प| पोर्टल पर पंजीकरण कराने में किसी प्रकार की परेशानी आ रही है तो सरकार के जारी हेल्पलाइन नंबर 1800-180-21171800-180-2060 पर सुबह नौ से शाम 5 बजे तक कॉल की जा सकती है। किसान इस नंबर पर अपनी अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं।

इस बार होगी फसलों की फिजिकल वेरिफिकेशन
पंजीकरण में किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं हो इसके लिए इस बार फिजिकल वेरिफिकेशन की जानी है। विभागीय अधिकारी ने बताया कि बीते वर्ष पंजीकरण में कुछ गड़बड़ी मिली थी। किसानों ने पोर्टल पर भर दिया सब्जी का नाम जबकि मौके पर कोई सब्जी नहीं मिली। इसके स्थान पर फसल न के बराबर थी।

पंजीकरण पूरा होने के बाद किसानों के खेतों में जाकर फसल चेक की जाएगी। साथ में राजस्व विभाग के अधिकारी भी रहेंगे। स्पॉट पर जाकर फोटोग्राफी की जाएगी। इसका रिकॉर्ड विभाग के पास रखा जाएगा। जिससे बाद में मिलान किया जा सके।

खबरें और भी हैं...