पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अवैध वसूली:नगली घाट पर हो रही बाइक सवारों से वसूली

जठलाना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जठलाना| वसूली की पर्ची दिखाता युवक। - Dainik Bhaskar
जठलाना| वसूली की पर्ची दिखाता युवक।
  • बीडीपीओ बोले-परमिशन है, चेयरपर्सन बोलीं-किसी से नहीं ले सकते पैसे

यमुना नदी के नगली घाट पर ओवरब्रिज के कंस्ट्रक्शन का कार्य चल रहा है। ओवरब्रिज का कार्य तेजी के साथ किया जा सके, इसलिए यहां पर ठेकेदार यमुना नदी के बीच सीमेंटेड पाइप डाल अस्थाई रास्ता बनाया हुआ है। यहां यूपी की साइड कुछ लोगों ने तिरपाल की छान बना रखी है।

रास्ता रोकने के लिए मोटा रस्सा लगाया है। इस अस्थाई रास्ते से गुजरने की एवज में वह दिनरात राहगीरों से पैसे की वसूली कर रहे है। हर बाइक सवार से 50-50 रुपए की वसूली की जा रही है। इनके कार्य पर किसी को कोई शक न हो, इसलिए ये पैसे लेकर यहां से गुजरने वाले राहगीरों के हाथों में पर्ची भी थमा रहे हैं। पर्ची पर पैसे व डेट भी डाली जाती है।

पर्ची पंचायत समिति रादौर के नाम छपी है। यहां से प्रतिदिन गुजरने वाले लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि जो जैसा दिखता है, उस हिसाब से उसके पास से पैसे की वसूली की जा रही है। जब भी कोई सरकारी गाड़ी आती है तो यह इधर-उधर खिसक जाते हैं।

क्षेत्रवासी कुलवंत, सर्वजीत व पंकज ने बताया कि यह अपने आप को नाव ठेकेदार बताते हैं। कहते हैं कि इन्होंने आवाजाही घाट का ठेका लिया है। ऐसा नहीं कि मामला प्रशासनिक अधिकारियों के संज्ञान में नहीं है। मामला संज्ञान में होने के बावजूद भी यहां पर अवैध रूप से पैसे की वसूली की जा रही है। अधिकारी कार्रवाई से अपने हाथ पीछे खींच रहे हैं। लोगों ने डीसी से मांग की है कि यहां पर अवैध वसूली कर रहे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

कार्रवाई करने से पल्ला झाड़ रहे अधिकारी| बीडीपीओ रादौर कंवरभान नरवाल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इन्होंने आवाजाही घाट का ठेका लिया हुआ है। अगर कोई इस रास्ते से बाइक, कार या फिर अन्य साधन लेकर गुजर रहा है तो यह उससे पैसे की वसूली कर सकते हैं। इनके पास परमिशन है।

नहीं हो सकती वसूली, जांच होगी- चेयरपर्सन

ब्लॉक समिति की रादौर चेयरपर्सन सुनीता बैंडी का कहना है कि आवाजाही घाट का ठेका पंचायत समिति रादौर के अधीन आता है। यह ठेका प्रतिवर्ष बोली के माध्यम से एक वर्ष के लिए छूटता है। बोली देने से पहले सभी को नियम बताया जाता है कि यह ठेका केवल नाव से नदी पार कराने का है।

​​​​​​ इसके अलावा ठेकेदार नदी के अंदर किसी प्रकार का कोई रास्ता नहीं बना सकता, न ही नदी के अंदर बने किसी रास्ते से गुजरने वाले वाहन चालक से पैसे की वसूली कर सकता है। अगर यहां पैसे की वसूली की जा रही है तो यह गलत है। इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें