नजमा हत्याकांड:पत्नी की हत्या के मामले में आरपीएसएफ का सब इंस्पेक्टर पहले हो चुका गिरफ्तार

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आरपीएसएफ के सब इंस्पेक्टर के साथ मिलकर उसकी पत्नी नजमा को कार से कुचलने के आरोपी मुरादाबाद जिले के गांव जाफराबाद निवासी मोहम्मद असलम और उसके दोस्त बिजनौर के सदाफल निवासी शफीक को सीआईए वन की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले में आरोपी सब इंस्पेक्टर अफसर अली को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

सीआईए वन के इंचार्ज राकेश मटोरिया ने बताया कि जिस स्काॅर्पियो कार से टक्कर मारकर नजमा की हत्या की गई। वह आरोपी मोहम्मद असलम अपने भाई से लेकर आया था। असलम अपने साथी शफीक को साथ लेकर आया था। हत्या की योजना अफसर अली और असलम ने बनाई थी। जबकि शफीक को योजना के बारे में यहां आकर पता लगा था। मामले में पुलिस को एक आरोपी की तलाश है। जब नजमा को कुचला गया तो कार में तीन लोग सवार थे। दाेनाें आराेपियाें काे काेर्ट में पेश कर जेल भेजा गया।

24 सितंबर को आरोपियों ने रेलवे स्टेशन पर बनाई थी हत्या की योजना
फर्कपुर थाना एरिया में यूपी के पीर बहोडा निवासी 27 साल की नजमा की हत्या के मामले में उसके पति यूपी के गांव जफराबाद निवासी अफसर अली को सीआईए वन स्टाफ ने 15 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। पत्नी की हत्या को उसने सड़क हादसा बताया था। लेकिन टीम ने मृतक के मायके वालों के बयान पर जांच में मामला हत्या का निकला। फेसबुक से हुई दोस्ती के बाद उसने नजमा से प्रेम विवाह किया था। लेकिन वह उसे पत्नी बनाकर नहीं रखना चाहता था। इसलिए उसने उसकी हत्या की योजना बनाई।

24 सितंबर को रात के समय वह नजमा काे सैर के बहाने सड़क पर ले गया। वहीं, अपने चचेरे भाई असलम और 2 अन्य से स्काॅर्पियो कार से नजमा काे कुचलवा दिया। घायल नजमा ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। जांच के दौरान यह भी सामने आया कि आरोपी पत्नी को तलाक तो देना चाहता था लेकिन 3 तलाक कानून को लेकर उसके मन में डर था कि कहीं उसकी पत्नी 3 तलाक का मामला न दर्ज करा दे।

जांच में यह भी सामने आया था कि हत्या को अंजाम देने वाले आरोपी 23 सितंबर को यमुनानगर आ गए थे। 24 सितंबर को उन्होंने जगाधरी वर्कशाॅप के रेलवे स्टेशन पर हत्या की योजना बनाई। जब नजमा की हत्या की गई, उस समय वह पांच माह की गर्भवती थी।

खबरें और भी हैं...