बेरुखी / लॉकडाउन में स्कूलों ने फीस नहीं बढ़ाई, विभाग ने मांगा था प्रमाण पत्र अभी तक 30प्रतिशत ने भी नहीं कराया जमा

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

यमुनानगर. लॉकडाउन में निजी स्कूलों ने नहीं बढ़ाई फीस, इसके लिए शिक्षा विभाग को प्रमाण पत्र जमा करना था। लेटर जारी होने के 14 दिन के बाद भी स्कूल संचालक जिला शिक्षा विभाग के पास प्रमाण पत्र जमा कराने में रुचि नहीं दिखा रहे। अभी तक बीईओ जगाधरी कार्यालय में 25% स्कूलों ने प्रमाण पत्र जमा कराया। डिप्टी डीईओ शिव कुमार का कहना है कि विभाग ने सभी स्कूल संचालकों को लेटर भेज दिया था कि वह फीस का प्रमाण पत्र जमा कराएं। अभी कुछ ही आगे आए हैं। इनको दोबारा रिमाइंडर भेजकर प्रमाण पत्र देने के लिए कहा जाएगा, इसके लिए समय तय किया गया है। इस इस बारे में शिक्षा निदेशालय की ओर से लेटर जारी किया जा चुका है। वह अभी फील्ड में है सही विवरण ऑफिस जाकर बता पाएंगे।
इसलिए लिया था फैसला | लॉकडाउन में शिक्षण संस्थान बंद हैं। सभी शिक्षण संस्थानों के बच्चे घर से ही ऑनलाइन पढ़ाई करा रहे हैं। ऐसे में निजी स्कूल ने फीस लेने की बात कही थी। इस पर मासिक फीस लिए जाने के बात सरकार की ओर से कही गई थी। इस बीच स्कूल संचालकों ने कोई फीस तो नहीं बढ़ाई, न ही किसी प्रकार का अन्य शुल्क लिया। इसके लिए अब इनको शिक्षा विभाग को पास प्रमाण पत्र देना होगा। जिले में निजी 490 के करीब स्कूल हैं।
23 अप्रैल से आठवीं के बीच का समय | पत्र में कहा गया कि कोविड-19 के दृष्टिगत निजी स्कूलों की ओर से ली जाने वाली फीस के बारे रिपोर्ट भेजी जाए। 23 अप्रैल से आठ मई के बीच का समय इसमंें दिया गया है। इस मामले में निजी स्कूलों द्वारा ली जाने वाली फीस बारे में निर्देश जारी हुए थे। अपने जिले के निजी स्कूलों को चेक करें। इसमें पता लगाए कि स्कूलों की ओर से फीस तो नहीं बढ़ाई गई, न ही किसी छात्र या छात्रा से कोई अन्य प्रकार का शुल्क लिया गया। इस बारे में निजी स्कूलों से प्रमाण पत्र लिए जाए। इसकी रिपोर्ट शिक्षा निदेशालय में जल्द भेजी जाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना