पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नीरज हत्याकांड:श्रवण का सरेंडर, पुलिस ने क्लीनचिट दी थी, कोर्ट ने आरोपी करार दिया था

यमुनानगर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो अलग-अलग डीएसपी ने की थी मामले की जांच, क्लीनचिट दी थी

मुंडा माजरा के नीरज हत्याकांड में फरार चल रहे मुंडा माजरा निवासी श्रवण ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। पुलिस ने पूछताछ के बाद कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। श्रवण को पुलिस की जांच टीम क्लीनचिट दे चुकी थी। लेकिन कोर्ट ने यह जांच रिपोर्ट नहीं मानी। कोर्ट ने उसे आरोपी माना था और पुलिस को गिरफ्तारी के आदेश दिए थे, लेकिन आरोपी हाथ नहीं आया। अब उसने खुद सरेंडर कर दिया। रामपुरा चौकी इंचार्ज संदीप कुमार ने बताया कि श्रवण कोर्ट का भगोड़ा था। उस पर वर्ष 2016 में हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था।

पुलिस ने जांच करते हुए 24 फरवरी 2018 को उसे निर्दोष करार दिया था। इसके बाद कोर्ट ने श्रवण को तलब किया। कोर्ट ने जमानत मंजूर कर ली, लेकिन वह तारीख पर पेश नहीं हुआ। तब कोर्ट ने उसे भगोड़ा करार दिया था। शिकायतकर्ता ने हत्या में मुख्य आरोपी श्रवण व उसके भाई गामा को कहा था, लेकिन दोनों ही वारदात के बाद से गिरफ्तार नहीं हो पाए। दो अलग-अलग डीएसपी ने जांच की और दोनों को क्लीनचिट दे दी थी।

{ पीट-पीटकर हत्या की थी, पांच को हो चुकी उम्रकैद | 26 सितंबर 2016 को आजाद नगर कॉलोनी निवासी नीरज पर कुछ युवकों ने लाठी डंडों से हमला बोल दिया था। जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गया। इसमें उसके दोस्त संजय और सूरज को भी चोट लगी थी। नीरज को ज्यादा चोट लगने से पीजीआई रेफर कर दिया गया था। वहां पर उपचार के दौरान 28 सितंबर की रात को नीरज की मौत हो गई थी।

परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ केस मामला दर्ज कर लिया था। तब पुलिस ने इस मामले में जितेंद्र उर्फ जोनी, मन्नी यादव, वीर अर्जुन, नितिन लांबा, प्रवेश उर्फ काला, राहुल उर्फ विक्की को गिरफ्तार किया था।

वहीं केस में श्रवण और उसके भाई सुरेंद्र उर्फ गामा को भी आरोपी बनाया था। लेकिन दोनों गिरफ्तार नहीं हुए थे। दोनों को 30 अक्टूबर 2018 को भगौड़ा घोषित किया गया है। वहीं जितेंद्र उर्फ जोनी जमानत से लेकर फरार हो गया था। उसे कोर्ट 18 अप्रैल 2019 को भगौड़ा घोषित कर चुकी है। 15 अगस्त 2020 को कोर्ट ने 5 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। वहीं आरोपी गामा ने बाद में सरेंडर कर दिया था।

खबरें और भी हैं...