कोर्ट ने कहा- पिता ही दुष्कर्म करे तो बेटियां कहां:सौतेली बेटी से 2 साल किया दुष्कर्म, आखिरी सांस तक जेल में रहने की सजा

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पत्नी की मौत के बाद 15 साल की बेटी के साथ कई बार रेप करने वाले पिता को कोर्ट ने मौत होने तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। वहीं, उस पर 60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने धारा-376 में मौत होने तक जेल की सजा और 40 हजार का जुर्माना, धारा-506 में तीन साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना लगाया। वहीं, पोक्सो एक्ट में 12 साल की सजा और 15 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी। कोर्ट ने सजा सुनाते हुए कहा कि अगर पिता ही बेटी के साथ इस तरह का काम करे तो फिर बेटियां कहां पर सुरक्षित हैं। इस तरह के घिनौना काम करने वाले को सख्त सजा देना जरूरी है। यह फैसला फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुनाया है। वहीं, पीड़िता के अंत तक अपने बयानों पर अड़े रहना और डीएनए मैच होना सजा का आधार बना। वहीं केस में पुलिस की जांच भी सटीक रही। यमुनानगर की मौजूदा फास्ट ट्रैक कोर्ट ने पहली बार किसी दोषी को मौत होने तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। महिला थाना पुलिस ने कार्यकारी जिला बाल संरक्षण अधिकारी आंचल की शिकायत पर 13 मार्च 2019 को महिला थाना पुलिस ने केस दर्ज किया था। तब लड़की ने काउंसलिंग में बताया था कि उसका सौतेला पिता 2 साल से गलत काम कर रहा है।

खबरें और भी हैं...