पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डीटीओ की रैकी करने का मामला:आरोपी को गिरफ्तारी के तीसरे दिन ही मिली जमानत, रैकी करने वाले 9 वाट्सएप ग्रुपों का संचालक है अमन उर्फ जादू

जठलाना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ओवरलोड वाहनों को डीटीओ व एसईटी से बचाने के लिए वाट्सएप गुपों के माध्यम से नेटवर्क चला अधिकारियों की रैकी करने के आरोप में पकड़े गए गुमथला निवासी अमन उर्फ जादू को कोर्ट से जमानत मिल गई है। मामले में दो नामजद आरोपी यमुनानगर निवासी गौरव व अखिल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। थाना जठलाना प्रभारी का कहना कि मामले की गहनता से छानबीन हो रही है।

साइबर सेल की मदद ली जा रही है। जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा। वहीं जनहित याचिकाकर्ता वरयाम सिंह का आरोप है कि खनन से जुड़े लोग किसी तरह प्रशासन तंत्र पर हावी है, इस बात का पता इस केस से चल रहा है। पुलिस ने मामले में ढिलाई बरती है, जिसे आरोपी को गिरफ्तारी के तीसरे दिन ही कोर्ट से जमानत मिल गई है।

वरयाम सिंह का दावा है कि अधिकारियों की रैकी से जुड़े इस मामले में पुलिस के आरोपियों के साथ मिलीभगत के पुख्ता सबूत उन्होंने जुटा लिए हैं। जिसे वह प्रदेश के गृह मंत्री के समक्ष पेश कर मिलीभगत पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे।

3 जून को पकड़ा था

क्षेत्र में एक-दो जून को ओवरलोड पर कार्रवाई के लिए एसईटी टीम पहुंची। टीम के पहुंचने से पहले ही सूचना ओवरलोड वाहन चालकों तक पहुंच गई। पुलिस ने तीन जून की सुबह के समय टीम ने गुमथला के पास रेड की तो वहां पर 4 ओवरलोड ट्रकों के साथ वाट्सएप ग्रुप में अधिकारियों की रैकी का नेटवर्क चला रहे करीब 9 वाट्सएप ग्रुपों के संचालक गुमथला निवासी अमन उर्फ जादू को भी पकड़ लिया।

जठलाना पुलिस थाने में एसईटी टीम के सदस्य विक्रम की शिकायत पर अमन उर्फ जादू सहित दो अन्य यमुनानगर निवासी गौरव व अखिल के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया था।

खबरें और भी हैं...