पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मॉडल प्राइमरी स्कूलों में डिजिटल बोर्ड पर होगी पढ़ाई:कम्यूटर या लैपटॉप से कनेक्ट होगा बाेर्ड, एक क्लिक पर खुलेगा पाठ, 15 गुना बड़े दिखेंगे अक्षर

यमुनानगर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजकीय मॉडल संस्कृति प्राइमरी स्कूलों में विद्यार्थियों को डिजिटल बोर्ड पर पढ़ाई कराई जाएगी। प्रदेश के 1418 जिले के 26 स्कूलों में डिजिटल बोर्ड भेजे जाएंगे। इनके जरिए विद्यार्थी ई-लर्निंग एजुकेशनल प्रणाली का हिस्सा बनेंगे।

इनकी खास बात यह होगी कि कैमरे से अक्षरों साइज 15 गुना बड़ा दिखाई देगा। डिजिटल बोर्ड पर नई तकनीक एक क्लिक से शुरू होगी। बोर्ड पर ही एक क्लिक से शिक्षक जिस भी विषय की किताब के जिस पाठ को खोलना चाहेंगे वह पाठ बोर्ड पर खुल जाएगा। अध्यापक रमेश कुमार ने बताया कि अब डस्टर की जरूरत नहीं रहेगी। डिजिटल बोर्ड को कंप्यूटर का लेटेस्ट वर्जन कहा जा सकता है। डिजिटल बोर्ड आ गए हैं। इन्हें इंस्टालेशन किया जाना है।

इंटरनेट की स्पीड पर निर्भर होगा डिजिटल बोर्ड

डिजिटल बोर्ड को मोबाइल या लैपटॉप से कनेक्ट कर के इनकी स्क्रीन पर कंप्यूटर जैसे काम ले सकते हैं। विद्यार्थी एक क्लिक से डिजिटल बोर्ड पर परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र व उत्तर कुंजी खोल सकते हैं। यह व्यवस्था भी नेट के माध्यम से ही चल पाएगी। इंटरनेट स्पीड कम हुई तो बोर्ड पर पढ़ाने की स्पीड कम रह सकती है।

डिप्टी डीईओ पृथ्वी सैनी ने बताया कि डिजिटल कैमरे के साथ इंस्टाल रियर कैमरा किताबों काे कैप्चर करके अक्षरों का साइज 15 गुना बढ़ा कर देगा। इससे बच्चों को स्पष्ट दिखाई देगा। पढ़ाई करने में उन्हें आसानी रहेगी। शिक्षकों को भी पढ़ाई कराने में आसानी हाेगी। इसके अतिरिक्त सिंगल क्लिक से बोर्ड पर किताब खुल जाएगी। इसके फ्रंट कैमरे के सामने बैठे सभी बच्चों की फोटो एक साथ ली जा सकती है।

बोर्ड के साथ कई डिवाइस जाेड़े जाएंगे
डिजिटल बोर्ड के साथ रियर कैमरा, माउस, स्पीड, कीपैड, सीपीयू, बायोमेट्रिक टैब इंस्टाॅल किए हैं। अध्यापक दीपक कुमार का कहना है कि पढ़ाई कराने में आसानी होगी। समय की बचत के साथ पढ़ाई पर फोकस रहेगा।

खबरें और भी हैं...