एजुकेशन:संस्कृति मॉडल स्कूलों की छात्राओं के स्कूल आने-जाने के लिए वाहन की व्यवस्था करेगी प्रदेश सरकार

यमुनानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कक्षा 9वीं से 12वीं तक की स्टूडेंट्स को मिलेगा सुविधा का लाभ

सरकारी की ओर से जिले में खोले गए गर्वमेंट मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में दाखिला प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों को सरकार की ओर से कई प्रकार की सुविधाएं दी जाएंगी। इसी कड़ी में इन स्कूलों में कक्षा नौ से 12वीं तक की छात्राओं के स्कूल आने जाने का खर्च सरकार वहन करेगी।

इसे लेकर चंडीगढ़ में विभागीय अधिकारियों मीटिंग हो चुकी है। इसमें ये निर्णय लिया गया। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार इन स्कूलों में अभी सीमित सीट रखी गई हैं। जितने संसाधन उपलब्ध हैं। उसी अनुसार अभी दाखिले किए जाने हैं।

निजी स्कूलों के समान सुविधा देने में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही है। एनसीईआरटी की मुफ्त पाठ्य पुस्तकें सरकार की ओर से सभी को दी जाएगी। इतना नहीं टेबलेटस भी सरकार इन्हें देने का जा रही है। इनकी स्कूल ड्रेस भी फ्री में सरकार की ओर से दी जाएगी।

शिक्षा स्तर व ढांचागत सुविधाएं बढ़ेगी| विभागीय अधिकारी भी मानते हैं कि सीबीएसई से संबंधता के बाद स्कूलों में शिक्षा के स्तर में सुधार आने के साथ ही ढांचागत सुविधाएं बढ़ेगी। इनमें जरूरत की प्रत्येक चीज उपलब्ध कराई जाएगी। लैब के आधुनिकीकरण के साथ ही इनमें सुविधाएं भी बढ़ेगी। इन स्कूलों में एडमिशन से लेकर प्रत्येक कार्य सीबीएसई पैटर्न पर ही आधारित होंगे। फिलहाल इन स्कूलों में दोनों ही मीडियम से पढ़ाई कराई जानी है।

ये हैं जिले के मॉडल संस्कृति स्कूल

जीएमएसएसएस बूड़िया, छछरौली जीएमएसएसएस, जीएमएसएसएस जगाधरी, जीएमएसएसएस कैंप, जीएमएसएसएस बिलासपुर, सरस्वती नगर, साढौरा में संस्कृति मॉडल स्कूल बने हैं। जिले में आठ सीनियर सेकेंडरी स्कूल खुले हैं। उत्कृष्ट श्रेणी की शिक्षा देने के उद्देश्य से खंड स्तर पर राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को खोला गया है।

इन स्कूलों को मॉडल संस्कृति बनाया गया है। इनमें ही सीबीएसई पैटर्न पर पढ़ाई होगी। पंजाबी, फ्रेंच, इंग्लिश कोर, हिंदी कोर, संस्कृत। एलक्टिव में हिस्ट्री, पॉलीटिकल साइंस, जियोग्राफी, इकनोमिक्स, म्यूजिक वोकल, मैथमेटिक्स सब्जेक्ट शामिल किए गए हैं।

संस्कृति मॉडल स्कूलों में दी जाने वाली सुविधाओं को लेकर मीटिंग हो चुकी है। इनमें कक्षा नौ से 12वीं तक पढ़ाई करने वाली लड़कियों के लिए मुफ्त यातायात की सुविधा सरकार देने जा रही है। साथ ही ड्रेस, किताबें, टैब देने की भी तैयारी चल रही है।
नमिता कौशिक, डीईओ, यमुनानगर

खबरें और भी हैं...