पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सड़क हादसा:खन्ना से हरिद्वार के लिए निकले परिवार की कार से भिड़ा ट्रॉला, 1 की मौत, 7 घायल

यमुनानगर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जगाधरी सिविल अस्पताल में भर्ती मृतक सुरेंद्र की पत्नी ज्योति - Dainik Bhaskar
जगाधरी सिविल अस्पताल में भर्ती मृतक सुरेंद्र की पत्नी ज्योति
  • धार्मिक अनुष्ठान के लिए हरिद्वार जा रहा था दोनों भाइयों का परिवार, मरने वाले सुरेंद्र खन्ना सब्जीमंडी में थे मुंशी, घायल छोटे भाई की थी बॉक्स फैक्ट्री
  • जगाधरी-अम्बाला मार्ग पर कैल के समीप बुधवार सुबह 7 बजे ट्रॉला व कार की टककर

पंजाब के खन्ना से हरिद्वार के लिए निकले 8 लोगों के परिवार की कार में सामने से तेज रफ्तार ट्रॉला भिड़ गया। हादसा जगाधरी-अम्बाला मार्ग पर कैल के पास बुधवार सुबह 7 बजे हुआ। टक्कर से कार के परखच्चे उड़ गए। कार में फंसे परिवार की चीखें सुन राहगीरों ने उन्हें बाहर निकाला पर उनमें 48 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो चुकी थी।

परिवार में दो किशोरियों व दो महिलाओं समेत सात लोगों को जगाधरी सिविल भर्ती कराया। उनमें भी व्यक्ति व किशोरी के सिर में गंभीर चोट होने पर ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया, जिनकी हालत नाजुक बताई गई है। उधर, पुलिस ने घायलों के बयान लेकर अज्ञात ट्रॉला चालक पर केस दर्ज कर लिया। घायलों की मानें तो ट्रॉला रांग साइड से आ रहा था जिसकी वजह से यह हादसा हुआ।

पंजाब के खन्ना के गांव राजेवाल निवासी रजनी ने बताया कि पति हरिओम व देवर सुरेंद्र, दोनों का परिवार हर साल की तरह पितृ शांति का अनुष्ठान करने मंगलवार रात हरिद्वार के लिए निकला था। रजनी ने बताया कि आई-10 कार में वह और उसके पति हरिओम व बेटा हिमांशु (7) व दोनों बेटियां गीतिका (15), हिमानी (19) थे। साथ ही देवर सुरेंद्र (48) व उसकी पत्नी ज्योति व बेटा हरीश (20) थे।

रजनी ने बताया कि कार उनके पति हरिओम चला रहे थे। परिवार के 8 सदस्य कार से बुधवार सुबह 7 बजे यमुनानगर के कैल समीप पहुंचे तभी यहां ट्रॉला चालक ने सामने से कार में टक्कर मार दी। कार फ्रंट से पूरी तरह डैमेज हो गई। शाेर सुन राहगीरों ने उन्हें कार से बाहर निकाला जिनमें उनके देवर सुरेंद्र की मौत हो चुकी थी। परिवार के बाकी 7 सदस्यों को जगाधरी सिविल पहुंचाया गया।

पहले हादसे में टांग फ्रेक्चर हुई, अब मौत की बात परिवार ने पत्नी से छिपाई

चचेरे भाई मोहित ने बताया कि मृतक सुरेंद्र खन्ना में सब्जीमंडी के मुंशी थे, पर कई वर्ष पहले हादसे में उनकी टांग में फ्रेक्चर हो गया। तब से वे घर पर है और उनका बेटा हरीश घर खर्च चला रहा है जबकि सुरेंद्र की बड़ी बेटी की अभी कुछ समय पहले ही शादी हुई थी। अब सुरेंद्र पत्नी ज्योति व बेटे हरीश के साथ पितृ शांति के लिए छोटे भाई हरिओम के परिवार के संग हरिद्वार जा रहे थे, पर हादसे ने हंसते-खेलते परिवार की खुशियां छीन ली। मोहित ने बताया कि हरिओम बॉक्स फैक्ट्री संचालक हैं।

दो के सिर में गंभीर चोट होने पर ट्रॉमा में रेफर

जगाधरी सिविल में भर्ती परिवार के लोगों में हरिओम व उनकी बेटी गीतिका के सिर में गंभीर चोट आने पर सिटी स्कैन के लिए ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया जबकि हरिओम की पत्नी रजनी व बेटे हिमांशु के हाथ व सिर में हल्की चोटें हैं वहीं उनकी बेटी हिमानी को हल्की चोटें होने पर इलाज बाद छुट्टी दे दी गई। उधर, मृतक सुरेंद्र (48) की पत्नी ज्योति को हाथ व पैर में फ्रेक्चर है व उनके बेटे हरीश भी घायलावस्था में भर्ती है।

खबरें और भी हैं...