पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

3 साल में 3 महिलाओं के शव मिले:आज तक एक की भी नहीं हुई शिनाख्त, छप्पर एरिया में नौ सितंबर को मिले शव का पुलिस ने कराया पोस्टमार्टम

यमुनानगर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अम्बाला हाईवे पर गांव भंभौली के पास सड़क किनारे महिला का शव मिला था। तीन दिन पुलिस ने उसकी शिनाख्त का प्रयास किया, लेकिन शिनाख्त नहीं हो पाई। रविवार को उसे लावारिस मानकर शव का पोस्टमार्टम करा दिया। तीन साल में तीन महिलाओं के शव मिल चुके हैं। जिनकी हत्या करने वालों का पता लगना तो दूर यह भी नहीं पता चल पाया कि वे कौन थी और कहां की रहने वाली थी।

पुलिस की टीमें इन केसों को ट्रेस करने में लगी रहती हैं, लेकिन केस ट्रेस नहीं हो पाते। माना जाता है कि यमुनानगर यूपी और हिमाचल प्रदेश की सीमा से सटा है। हो सकता है कि यूपी और हिमाचल प्रदेश में वारदात के बाद यहां पर शवों को ठिकाने लगाया गया हो। जिन महिलाओं की हत्याएं हुई अगर वे यमुनानगर एरिया की होती तो उनकी शिनाख्त में यमुनानगर पुलिस को ज्यादा जांच की जरूरत नहीं पड़ती।

बता दें कि 20 फरवरी 2019 को गांव उर्जनी में हाईवे से लगती जमीन में गन्ने के खेत में एक महिला का शव मिला था। शव अर्धनग्न हालत में था। गले में चुन्नी बंधी थी और मुंह से खून आ रहा था। इस मामले में पुलिस ने रेप और हत्या का केस दर्ज किया था।

यह मामला आज तक अनट्रेस है। महिला की पहचान तक नहीं हुई। नौ सितंबर को छप्पर एरिया में हाईवे के किनारे एक महिला का शव मिला। महिला की उम्र करीब 40 साल है और उसने बुर्का पहना हुआ है। उसके गले को कपड़े से घोंटा गया। मामले में छप्पर पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया था।

महिला की शिनाख्त नहीं हो पाई। छप्पर थाना प्रभारी राय सिंह ने बताया कि शिनाख्त का प्रयास जारी है। उधर, सीआईए वन इंचार्ज राकेश मटोरिया का कहना है कि हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगे हैं। सबसे पहले महिला की शिनाख्त होना जरूरी है। वहीं मार्च 2020 में छछरौली के गांव ईस्माइलपुर में एक महिला का शव सड़क किनारे मिला था

खबरें और भी हैं...