पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आदेश का इंतजार:आज स्कूल खुलेंगे या नहीं, लिखित आदेश नहीं, अभिभावकों के लिए असमंजस की स्थिति

यमुनानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीएसई की ओर से भी आदेश नहीं, बस तैयारी रखने के निर्देश, काेविड से रखें बचाव, केंद्र के बाद स्टेट की भी जारी होनी है गाइडलाइन, विभागीय अधिकारी अभी इंतजार में

सरकार ने 15 अक्टूबर वीरवार से कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूल खोलने की घोषणा की है। विभाग से लेकर स्कूलों तक के पास आदेश नहीं आया है। जिसके चलते असमंजस की स्थिति बनी है। एडिड स्कूलों के प्रिंसिपल का कहना है कि आदेशात्मक ईमेल नहीं आई है। अपने स्तर पर वे रिस्क नहीं ले सकते। सीबीएसई स्कूलों के प्रिंसिपल बता रहे हैं कि बोर्ड से आदेश नहीं आए हैं। केवल तैयारी रखने की बात कही गई है। दूसरा कोविड से बचाव को लेकर पेरेंट्स को जागरूक कर रहे हैं। स्टेट की ओर से कोविड से बचाव को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं हुई है। केंद्र पहले ही अपनी गाइडलाइन जारी कर चुका है।

नोटिफिकेशन जारी न होने से दुविधा बनी है। जिला शिक्षा विभाग को भी इस बारे में अधिकारिक जानकारी नहीं है। जिसके चलते स्कूल उलझन में हैं। इससे पहले शिक्षा विभाग की ओर से 15 सितंबर से पत्र जारी कर परामर्श के लिए कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स को स्कूल आने की इजाजत दी थी। इस दौरान भी अधिकांश स्कूल बंद ही रहे हैं। कम संख्या में ही बच्चे परामर्श लेने स्कूल पहुंच रहे हैं।

बिना तैयारी के कैसे खुलेंगे स्कूल बड़ा सवाल

शिक्षा मंत्री ने 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने का बयान दे चुके हैं। लेकिन जिला स्तर पर इसे लेकर कोई तैयारी 14 को भी नजर नहीं आई। जिला शिक्षा विभाग इस संबंध में गाइडलाइन का इंतजार कर रहा है। बिना गाइडलाइन के स्कूल आज से कैसे खुलेंगे।

अभिभावक भी चिंतित

सभी टीचरों का तो टेस्ट भी नहीं हुआ है। ऐसे में अभिभावक अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंता में है। अभिभावक सुरेंद्र, नीरज, अनुराग, तरुण का कहना है कि कोरोना खत्म नहीं हुआ है। हर कार्य ऑनलाइन चल रहा है। पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है। जब बच्चों की पढ़ाई घर से ही ठीक हो रही है। ऐसे में वे अपने बच्चों को स्कूल भेज कर रिस्क नहीं लेना चाहते हैं।

प्रिंसिपल के पास नोटिफिकेशन नहीं, तैयारी पूरी

हमारे पास स्कूल खोलने को लेकर कोई नोटिफिकेशन नहीं है। अभी परामर्श के लिए बच्चे स्कूल आ रहे हैं। ऑनलाइन क्लास आगे भी जारी रहेगी। उनके लिए बच्चों की सुरक्षा पहले है। काेविड से बचाव को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। मास्क के साथ स्कूल में प्रवेश मिलता है। परामर्श के लिए बच्चे स्कूल आ रहे हैं। परिसर को सेनिटाइज किया जाता है। ये कार्य नियमित होता है। -पीके धीमान, प्रिंसिपल, डीएवी स्कूल, यमुनानगर।

सीबीएसई की ओर से कोई आदेश स्कूल खोलने को लेकर नहीं मिला है। तैयारी रखने के लिए बोला गया है। कोविड-19 से बचाव को लेकर प्रचार के लिए कहा गया है। इस कार्य में लगे हैं। पेरेंट्स को बचाव के उपाय बता रहे हैं। ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह जारी हैं। आदेशों के आने पर ही खोलने पर विचार किया जाएगा। -तपोश भट्टाचार्य, प्रिंसिपल स्वामी विवेकानंद, सेक्टर 17।

केंद्र सरकार ने नॉन कंटेनमेंट जोन में आने वाले इलाकों में स्कूल खोलने को कहा

केंद्र सरकार ने नॉन कंटेनमेंट जोन में आने वाले इलाकों में स्कूल खोलने को कहा है। स्कूल खोलने का स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर यानि एसओपी पहले ही जारी कर दिया गया था। जिसमें कोरोना संक्रमण से बचाव को से जुड़ी सावधानियों के बारे में बताया गया है। इनमें स्कूलों को पूरे परिसर फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, स्टोरेज, पानी की टंकी, किचन, वॉशरुम, लैब, लाइब्रेरी वगैरह की सफाई और सेनिटाइज करना होगा। इनडोर जगहों पर हवा की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करनी है। किसी भी नियम की जानकारी पेरेंटस को जरूर देनी होगी। उसे स्कूल परिसर में दिखाना जरूरी है। ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग क्लास को प्राथमिकता और बढ़ावा दिया जाएगा। यदि छात्र ऑनलाइन क्लास अटेंड करना चाहते हैं तो उन्हें इसकी परमिशन दी जाए। छात्र केवल अभिभावक की लिखित अनुमति के बाद ही स्कूल आ सकते हैं। उन पर किसी तरह का दबाव न बनाया जाए।

खबरें और भी हैं...