दूधिया रोशनी से जगमग होंगे सिटी के 3 मुख्य मार्ग:हरेड़ा से मिलीं 850 एलईडी लगाने का 49 लाख में वर्क अलॉट, रेलवे रोड से काम की शुरुआत

यमुनानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जर्जर तार हटाकर डीडब्ल्यूसी पाइप समेत होगी वायरिंग

सिटी के तीन मुख्य मार्ग दूधिया रोशनी से जगमग होंगे, क्योंकि यहां लगीं सोडियम लाइट्स एलईडी में कनवर्ट होंगी। इसके लिए हरेड़ा से मिलीं 850 एलईडी लाइट लगाने के लिए नगर निगम ने 49 लाख में वर्क अलॉट कर दिया है।इसमें न सिर्फ सोडियम लाइट एलईडी में बदली जाएंगी बल्कि पुराने जर्जर तार हटाकर डीडब्ल्यूसी (डबल वॉल कॉरेगेटिड) पाइप सहित नई वायरिंग भी होगी। यही नहीं, पुराने टूटे 52 पोल बदलकर सभी पोल पेंट होंगे।

यह काम श्रीराधेकृष्ण इंटरप्राइज को अलॉट हुआ है। जिसे शहीद भगत सिंह (फव्वारा) चौक से खारवन, जगाधरी के महाराजा अग्रसेन चौक से रक्षक विहार व महाराणा प्रताप चौक से विष्णुनगर तक ये काम करने हैं। फर्म ने कर्मचारी लगाकर रेलवे रोड पर शहीद भगत सिंह चौक से जगाधरी की ओर काम शुरू कर दिया है। डिवाइडर पर स्ट्रीट लाइट पोल के पहले से बने सीमेंटेड बेस तोड़ कईं सोडियम लाइट एलईडी में बदल भी दी हैं। साथ साथ डिवाइडर पर खुदाई कर पुराने जर्जर तार हटाकर डीडब्ल्यूसी (डबल वॉल कॉरेगेटिड) पाइप सहित नई वायरिंग का काम चल रहा है।

तीनों मुख्य मार्गों पर सोडियम लाइट एलईडी में कनवर्ट करने के लिए 49 लाख में श्रीराधेकृष्ण इंटरप्राइज को वर्क अलॉट हुआ है। जिसे हरेड़ा से मिली 850 लाइट लगानी हैं। साथ में खराब वायर और 52 पोल बदलने हैं और सभी पोल पेंट भी करने हैं।
मृणाल जयसवाल, एमई, नगर निगम।

डिवाइडर पर खुले तारों के जोड़, हादसे का अंदेशा

रेलवे रोड पर डिवाइडर पर बने कई पोल के सीमेंटेड बेस तोड़ देने के बाद तारों के जोड़ खुले पड़े हैं। जिन पर टेप भी नहीं लगाया गया। ऐसे में तारों के खुले जोड़ रोड क्रॉसिंग के दौरान हादसे की वजह बन सकते हैं।

गुणवत्ता पर सवाल उठे, तब रुका था काम

वार्ड-2, 8, 9, 21 व 6, 10, 15, 19, इन 4-4 वार्डों के अक्टूबर-2019 में अलग-अलग दो टेंडर कॉल हुए थे। 3.63 करोड़ के दोनाें टेंडर रिप्लेसमेंट एंड इंप्रूवमेंट ऑफ स्ट्रीट लाइट वर्क के नाम पर थे। इसमें सोडियम को एलईडी लाइट में बदलना था। काम अलॉट होने पर जैसे ही शुरू हुआ, तभी पार्षदों ने लाइट्स की गुणवत्ता पर सवाल कर मेयर व विधायक को शिकायत दे दी।

बाद में पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर पवन बिट्टू व मौजूदा सीनियर डिप्टी मेयर प्रवीन शर्मा उर्फ पिन्नी ने विस पिटीशन कमेटी में शिकायत दी। इसके बाद से वार्डों में काम रुक गया और इन रोड पर भी काम नहीं लग पाया था। पर विस पिटीशन कमेटी में सुनवाई के बाद गठित टीम की रिपोर्ट के बाद प्रोजेक्ट पर काम आगे बढ़ रहा है।

यह भी जानें - काम के बीच कुछ चुनौतियों भी

उक्त मार्गों में रेलवे रोड पर मधु चौक से खारवन व जगाधरी महाराजा अग्रसेन चौक से रक्षक विहार तक मार्ग निगम के अंतर्गत नहीं है। ये हिस्सा पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के अधीन है, इसलिए उससे एनओसी या उसी से काम कराना पड़ सकता है। हालांकि निगम अफसर दो माह यह काम पूरा करने का दावा कर रहे हैं, पर पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के हिस्से वाले मार्ग पर काम के लिए एनओसी व अन्य औपचारिकताओं से डिले हो सकता है।

खबरें और भी हैं...