पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Yamunanagar
  • You Stay Healthy, So The Doctor Should Stay Away From The Happiness Of His Loved Ones, Some Wife Did Not Attend The Birthday Of A Son, Did Not Attend The Marriage In Relationship

डॉक्टर्स डे आज:आप स्वस्थ रहें इसलिए अपनों की खुशियों से दूर रहे डॉक्टर, कोई पत्नी तो कोई बेटे के बर्थडे में शामिल नहीं हुआ, रिश्तेदारी में शादी तक अटेंड नहीं की

यमुनानगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना से 3 माह से जीत की जंग लड़ रहे डॉक्टर्स ने भास्कर से साझा कुछ ऐसे पल...

आज डॉक्टर्स डे है। डॉक्टर को भगवान का रूप माना जाता है। कोरोना महामारी में ये डॉक्टर ही हैं जोकि अपनी जान को खतरे में डालकर और परिवार से दूर रहकर कोरोना पेशेंट का इलाज कर रहे हैं। इलाज करने वाले कई डॉक्टर ऐसे हैं जोकि अपने घर तो चले जाते हैं लेकिन अपनों से दूर रहना पड़ता है। कोई बेटे के तो कोई पत्नी के बर्थडे तक में शामिल नहीं हो पाया। वहीं कोई डॉक्टर ऐसा है कि रिश्तेदारी में शादी थी, वहां पूरा परिवार गया लेकिन वे नहीं जा पाए।

इसी तरह से डॉक्टर ने अपने परिवार से ज्यादा समय पेशेंट वार्ड और ओपीडी में दिया। शायद डॉक्टर्स की वजह से ही यमुनानगर में कोरोना कंट्रोल में है। साथ ही 100 पेशेंट कोरोना के ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। 7300 से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। दैनिक भास्कर ने इन डॉक्टर्स से जाना इस कोविड ड्यूटी में उन्हें किस तरह से पेशेंट के लिए अपनों से और परिवार की खुशियों से दूर रहना पड़ा।

बेटे का बर्थडे था, दूर से विश किया
डिप्टी सिविल सर्जन डॉक्टर अनूप गाेयल को ईएसआई अस्पताल में बनाए कोविड अस्पताल की जिम्मेदारी दी गई है। पेशेंट के इलाज से लेकर उनकी देखरेख सब उनके जिम्मे है। उनका कहना है कि 7 मई को बेटे अर्नव गोयल का 18वां बर्थ डे था लेकिन वे उसके बर्थडे के कार्यक्रम में वे शामिल नहीं हो पाए। उन्होंने दूर से ही बेटे को विश किया। उनका कहना है कि उन्हें इस बात की खुशी है कि उनके यहां पर जो भी पेशेंट आया, वह ठीक होकर गया। वे चाहते हैं कि पेशेंट की देखरेख, खाने-पीने और ट्रीटमेंट में कोई कमी न रहे इसलिए बिना छुट्टी लिए पेशेंट की सेवा कर रहे हैं।

रिश्तेदारी में शादी थी, नहीं जा पाए
डॉक्टर नितिन गुप्ता  सिविल अस्पताल में फिजिशियन हैं। कोरोना पेशेंट के इलाज की जिम्मेदारी इनके कंधों पर है। उनका कहना है कि पहले रूटीन में 200 से 250 पेशेंट को ओपीडी में देखते थे। कोरोना महामारी में उनकी ड्यूटी लगाई गई। तब से वे कहीं रिश्तेदारी में नहीं जा पाए। पिछले दिनों रिश्तेदारी में शादी थी। पूरा परिवार वहां गया था लेकिन वे नहीं जा पाए। उनके लिए जितना जरूरी रिश्तेदारी में जाना है, उससे कहीं ज्यादा जरूरी कोरोना पेशेंट की देखरेख है।

पत्नी के बर्थडे पर लेट घर पहुंचे थे 
कोविड सर्विलांस अधिकारी डॉ. वागेश गुटैन का कहना है कि कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए जो भी प्लानिंग बनती हैं, उस पर उन्हें और उनकी टीम को काम करना होता है इसलिए पूरा पूरा दिन मीटिंग या फिर अन्य प्लानिंग करते निकल जाता है। 19 जून को उनकी पत्नी का बर्थडे था। उस दिन पूरा दिन मीटिंग चलती रही। रात 8 बजे वे उस दिन घर पर पहुंच पाए थे। उनका कहना है कि उनके परिवार को भी इस बात की खुशी है कि डॉक्टर बेटा लोगों को कोरोना से बचाने के लिए काम कर रहा है। 

परिवार में होते हुए भी दूर रहना पड़ा 
सिविल अस्पताल के काॅर्डियोलॉजिस्ट डॉ. अनुज कांबोज की ड्यूटी कोरोना सैंपलिंग में लगी हैं। वे अब तक 1500 से ज्यादा सैंपल ले चुके हैं। पॉजिटिव पेशेंट का ट्रीटमेंट भी किया। सैंपल लेने के साथ-साथ वे ओपीडी भी देख रहे हैं। उनका कहना है कि जिन लोगों के उन्होंने सैंपल लिए उसमें से कुछ पॉजिटिव भी आ चुके हैं। इससे उन्हें भी संक्रमण का खतरा हो सकता है। इसलिए एहतियात बरतते हुए उन्हें घर में ही आइसोलेट रहना पड़ा। वहीं घर में रहते हुए परिवार से दूर रहना पड़ा ताकि किसी पर कोई असर न पड़े। ऐसा पहली बार हुआ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें