समाज में जागृति लाने में थियेटर का महत्वपूर्ण योगदान:चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय में 7 दिवसीय कार्यशाला का समापन, डीसी आरएस ढिल्लो ने किया संबोधित

भिवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय में डीसी आरएस ढिल्लो काे सम्मानित करते कुलपति प्रो. राजकुमार मित्तल। - Dainik Bhaskar
चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय में डीसी आरएस ढिल्लो काे सम्मानित करते कुलपति प्रो. राजकुमार मित्तल।

हर इंसान में कोई न कोई प्रतिभा अवश्य होती है, लेकिन अभिनय की प्रतिभा बहुत ही कम लोगों में होती है। अभिनय ईश्वर की अनुपम भेंट है। यह एक ऐसा हुनर है, जिससे उस इंसान की अपनी एक अलग ही पहचान बनती है। ये विचार डीसी आरएस ढिल्लो ने चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय के युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित सात दिवसीय रंगमंच कार्यशाला के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि विद्यार्थी कलाकारों को संबोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि रंग-मंच के माध्यम से कलाकार समाज की दशा का जीवंत चित्रण करते हैं।

समाज की दशा के साथ-साथ ऐतिहासिक व अन्य घटनाओं को हम रंगमंच के माध्यम से एक साथ हजारों-लाखों लोगों तक पहुंचा देते हैं। कलाकार रंगमंच के माध्यम से समाज को जगाने का काम करते हैं। रंगमंच का महत्व कभी कम नहीं होता है। उन्होंने विद्यार्थियों से सीधा संवाद किया और उनके द्वारा पूछे गए करियर संबंधी सवालों के सहर्ष जवाब दिए।

विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास की प्राथमिकता

कुलपति प्रो. राजकुमार मित्तल ने कहा कि शिक्षा, खेलों एवं सांस्कृतिक गतिविधियों के माध्यम से विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास करना ही विश्वविद्यालय की पहली प्राथमिकता है। कुलसचिव डॉ. ऋतु सिंह ने कहा कि रंगमंच की उत्पत्ति हमारे वेदों से हुई है। उन्होंने कहा कि थिएटर जितना कलाकारों के लिए महत्वपूर्ण है उतना ही ऑडियंस के लिए भी महत्वपूर्ण है। रंगमंच सबसे जीवंत कला है। डीन छात्र कल्याण डॉ. सुरेश मलिक ने कहा कि विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. राजकुमार मित्तल की अगुवाई में विद्यार्थियों की प्रतिभा को तराशने के लिए 12 हॉबी क्लबों का गठन किया गया है।

इसके अब सार्थक परिणाम आने लगे हैं और विद्यार्थी अपनी प्रतिभाओं का बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। डीन एफसीएम एवं हॉबी क्लब कन्वीनर डॉ. सुनीता भरतवाल ने कहा कि विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों के हुनर को संवारने के लिए छात्र कल्याण एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा संयुक्त रूप से अनेक प्रकार की गतिविधियां संचालित की जा रही हैं।

खबरें और भी हैं...