• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Bhiwani
  • On The Complaint Of The Widow, A Case Of Fraud Has Been Registered Against 9 People Including Brother in law And Father in law

धाेखाधड़ी:विधवा की शिकायत पर जेठ और ससुर समेत 9 लाेगाें के खिलाफ धाेखाधड़ी का केस दर्ज

भिवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस ने गृहमंत्री अनिल विज के निर्देश पर एक विधवा महिला की शिकायत पर धोखाधड़ी व गैर कानूनी तरीके से उसकी संपत्ति हड़पने व दुकान का लाखों रुपये का सामान फर्जी बिलों के माध्यम से बेचकर व खुर्द-बुर्द करने पर अाराेपियाें के खिलाफ धाेखाधड़ी समेत विभिन्न धाराअाें के तहत दर्ज किया है।

एमसी काॅलाेनी निवासी अमिता शर्मा ने बताया कि उसके पति नीरज शर्मा की सब्जी मंडी में दुकान नंबर 11 नीरज बीज कंपनी के नाम से दुकान थी। उसका पति नीरज दुकान का प्रोपराइटर व मालिक मलिक था। मानसिक रूप से परेशान रहने के कारण उसके पति की संदिग्ध परिस्थितियों में माैत हाे गई थी। जिसकी पुलिस अभी जांच कर रही है।

महिला ने शिकायत में बताया कि उसके पति की माैत के बाद उसके जेठ रजनीश शर्मा तथा ससुर भगवत स्वरूप शर्मा तथा ससुराल के अन्य सदस्याें ने उसके पति की संपत्ति व जायदाद पर नाजायज कब्जा करने व हड़पने की नियत से उनकी दुकान में रखा करीबन 75 लाख रुपये कीमत का सामान बीज, दवाई अादि काे फर्जी बिल बनाकर बेचकर खुर्द-बुर्द कर दिया। ससुर भगवत स्वरूप शर्मा द्वारा उपरोक्त लाइसेंस को जिला उद्यान अधिकारी भिवानी के साथ मिलीभगत कर गैर कानूनी तरीके से रद्द करवा दिया गया था। साजिश में उन्होंने दुकान के दो कर्मचारियों मोनू व तरुण को भी अपने साथ मिला लिया था।

क्योंकि उन्हें ही पता था किस-किस फर्म से उसके पति माल खरीदते थे व किस-किस फर्म को बेचते थे। दुकान का सारा हिसाब-किताब उनकी जानकारी में रहता था। इस साजिश में जेठ रजनीश शर्मा, ससुर भगवत स्वरूप शर्मा के अलावा ओमप्रकाश, ननद पूनम व उसका पति, विकास निवासी बठिंडा, सुमन व उसका पति, शशी शामिल हैं। पुलिस ने अाराेपियाें पर अाईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 506 व 120 बी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शिकायत में ये भी लगाए अाराेप अाराेपियाें ने दुकान में लगाया हुआ स्टाक रजिस्टर, सेल रजिस्टर, रोजनामचा बहियां तथा लैपटाप जिसने सारा लेखा-जोखा रहता था सब अपने कब्जे में लेकर खुर्द-बुर्द कर दिया।

महिला ने अाराेप लगाया कि जब उसने उक्त रजिस्टर मांगे ताे अाराेपियाें ने उसे व उसके बच्चाें काे जान से मारने की धमकी दी अाैर उसे व उसके बच्चाें काे मारपीट कर दुकान से निकाल दिया। जिसके कारण वह मायके टोहाना में रहने काे मजबूर है।

उसके पति की संदिग्ध माैत 6 अक्टूबर 2021 काे हुई थी अाैर उससे एक दिन पहले फर्जी बिल व डेबिट नोट तैयार किए तथा लाखों रुपये का माल खुर्द-बुर्द कर दिया था। जिसमें करीबन 28 लाख रुपये के कागजात उन्हें मिल ए लेकिन शेष माल इन्होंने गैर कानूनी तरीके से बिना बिलों के व फर्जी बिल जिनका कोई रिकार्ड प्रति नहीं रखा गया।

शिकायत में महिला ने अाराेप लगाए है कि उक्त अाराेपियाें ने दुकान का माल हिसार, बरवाला, भिवानी, राई, जिरकपुर, गुरुग्राम, सिरसा, नलेरकोटला, आजादपुर दिल्ली, अहमदाबाद, सोनीपत, हांसी, बंगलाैर अादि क्षेत्राें में स्थित 25 से अधिक कंपनियाें में गैर कानूनी तरीके से धोखाधड़ी कर फर्जी बिलों पर व डेबिट नोटों पर माल बेच दिया है।

खबरें और भी हैं...