प्रदर्शन:भवन यूनियन 18 काे श्रममंत्री के आवास पर करेगी प्रदर्शन, अधिकारियों के साथ बार-बार बातचीत होने के बाद भी समाधान नही हो रहा

बाढड़ा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार व अधिकारियों के साथ बार-बार बातचीत होने के बाद भी समस्याओं का समाधान नही हो रहा

भवन निर्माण कामगार यूनियन हरियाणा के आह्वान पर अपनी मांगाें काे लेकर 18 मई काे श्रममंत्री के आवास पर विराेध प्रदर्शन करेंगे। इसमें क्षेत्र के भवन निर्माण मजदूर भाग लेंगे। ये बात राज्य महासचिव कामरेड राममेहर ने कहा कि भाजपा जजपा सरकार की जनता विरोधी नीतियों के चलते आज मंहगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार चरम पर पहुंच गयी हैं जिसके चलते जनता की रोजी रोटी चौपट हो गई है।

भाजपा सरकार जनता के रोजी रोटी के सवालों से ध्यान हटाने के लिए जाति व धर्म के आधार पर बाटने का खेल रच रही है। जिला सहसचिव सुमेर सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आज निर्माण मजदूरों को दर-दर की ठाकरे खाने के लिए मजबूर कर दिया हैं। 28 जनवरी को श्रम मंत्री आवास पर श्रम सचिव ने मौके पर आकर निर्माण मजदूरों की समस्याओं का समाधान करने का लिखित में आश्वासन दिया था लेकिन सरकार व अधिकारियों के साथ बार-बार बातचीत होने के बाद भी समस्याओं का समाधान नही हो रहा है।

श्रम सचिव ने 90 दिन की तसदीक यूनियनों को देने, सुविधा फार्मों पर एक ही बार आपति लगाने, अनाप-सनाप शर्तें लगाने वाले अधिकारियों पर रोक लगाने, मजदूर सुविधा केन्द्र खोलने, कन्यादान व मृत्यु लाभ में फैमिली आईडी की शर्त हटाने, फैमिली आईडी में दोहरा ऑप्शन देने, पंजीकरण में तेजी लाने, भ्रष्टाचार पर रोक लगाने की मांगों पर सहमति जताई थी लेकिन अब तक भी ज्यादातर मागें अभी भी लटकी हुई है। आज भी कन्यादान, मृत्यु सहायता, मातृत्व, पितृत्व आदि के आवेदनों को दो-दो, 3-3 साल आवेदन किए हो गए लेकिन तमाम कागजात बार-बार पूरे करने के बावजूद भी इन आवेदनों पर अधिकारी बेमानी आपत्तियां लगाकर निर्माण मजदूरों को सुविधाओं से वंचित कर रहे है। 90 दिन की वर्क स्लिप के लिए मजदूर अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं जिसके बावजूद अधिकारी हस्ताक्षर करने से साफ मना कर रहे हैं। फैमिली आईडी में निर्माण मजदूर ना होने के चलते नया पंजीकरण नही हो रहा हैं, तमाम सुविधाओं से भी वंचित किया जा रहा हैं।

खबरें और भी हैं...