एक महान आशीर्वाद:आज के समय में योग एक महान आशीर्वाद, यह हमारे शरीर को ऊर्जावान व स्फूर्ति देकर बनाता है स्वस्थ- वसुधा

बाढड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उन्होंने कहा कि राजयोग एक छलनी की तरह है जो अच्छे व बुरे संकल्प व विचारों को छांटने का कार्य करता है

योग हमें कठिनाइयों का सामना करने की शक्ति देता है और उनको दूर करने का तरीका भी सिखाता है। यह उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की कादमा शाखा में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित पांच दिवसीय कार्यक्रम मानवता के लिए योग के समापन पर सेवाकेंद्र प्रभारी राजयोगिनी ब्रह्मकुमारी वसुधा बहन ने व्यक्त किए। गौरतलब है कि पांच दिवसीय ध्यान योग साधना शिविर शारीरिक क्रियाओं व मेडिटेशन के अभ्यास के साथ संपन्न हुआ। उन्होंने कहा कि राजयोग एक छलनी की तरह है जो अच्छे व बुरे संकल्प व विचारों को छांटने का कार्य करता है।

योग प्राचीन भारत के महान विषयों की ओर से मानव जाति को दिया गया अमूल्य उपहार है आज भारत के लाखों लोग सक्रिय रूप से योगाभ्यास कर रहे हैं और इसे अपने दैनिक जीवन में शामिल करते हैं। हालांकि योग एक सामान्य व्यायाम की दिनचर्या की तरह नहीं है जिसे आप दिन में 1 या 2 घंटे अभ्यास करते हैं योग से संपूर्ण लाभ प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को पवित्रता के साथ-साथ शारीरिक और मानसिक अनुशासन का भी पालन करना पड़ता है। जिस तरह से किसी पुरानी बीमारी से ग्रस्त मरीजों को दवाइयां खाने के साथ-साथ सब आहार आराम और नींद की दिनचर्या का पालन करना चाहिए उचित रहेगा की दिनचर्या के वांछित परिणाम को प्राप्त करने के लिए एक अनुशासित और मूल्य आधारित जीवन शैली का पालन करना होगा समाज की सभी शारीरिक और मानसिक समस्याओं का एक मुख्य कारण लोगों द्वारा गलत जीवनशैली का अनुसरण करना है। ब्रह्माकुमारी ज्योति बहन ने कहा कि आधुनिक समय में योग एक महान आशीर्वाद है यह हमारे शरीर को उर्जावान, स्फूर्ति युक्त व स्वस्थ बनाता है, साथ ही तनाव को कम करता है मन को शांत और कुशल मन्ना बनने का मार्ग प्रशस्त करता है योग हमारे समक्ष जीवन के स्वस्थ दृष्टिकोण को प्रस्तुत करता है या मिस करता है कि सुख और शांति का अंतिम स्रोत हमारे समय के भीतर है। अंतरराष्ट्रीय योगा प्रोटोकोल का अभ्यास कुमारी रोनक ने करवाया।

खबरें और भी हैं...